BREAKING NEWS

2022 तक सभी जिलों में खुलेंगे ईएसआइसी अस्पताल- 58 करोड़ मजदूरों को मिलेगा स्वास्थ्य लाभ।

717

रुद्रपुर। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री संतोष गंगवार ने बुधवार को रुद्रपुर में राज्य के पहले सौ बेड के ईएसआइसी (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) अस्पताल का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इससे मजदूरों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी। प्रदेश का कोई भी मजदूर अब इलाज से वंचित नहीं रहेगा।

गिरीश गैरोला

केंद्र सरकार ने 2022 तक सभी जिलों में ईएसआइसी अस्पताल खेलने का लक्ष्य निर्धारित किया है। संतोष गंगवार ने बताया कि देश में संगठित क्षेत्र के आठ करोड़ व असंगठित क्षेत्र के 50 करोड़ मजदूर हैं। इन सभी की चिंता भाजपा कर रही है। देश में ईएसआइसी अस्पताल से चार करोड़ मजदूर जुड़े हैं। स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ करीब 14 करोड़ लोग उठा रहे हैं। देश में मजदूरों की संख्या लगातार बढ़ रही है। उनकी चिंता सरकार कर रही है। इस मौके पर मेयर रुद्रपुर रामपाल सिंह, ईएसआइसी के डीजी राजकुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, रामप्रकाश गुप्ता, ईएसआइसी अस्पताल रुद्रपुर एमएस दीपशिखा शर्मा भी मौजूद रहीं। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि उत्तराखंड में ईएसआइसी अस्पताल स्थापित करने में 13 साल लग गए।

भाजपा सरकार ने तेजी से काम किया गया। हम हर मजदूरों की सेहत को लेकर फिक्रमंद हैं। राज्य के श्रम एवं वन्य जीव मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत नेे कोटद्वार में 300 बेड वाले ईएसआइसी अस्पताल व किच्छा विधायक राजेश शुक्ला ने 30 बेड के अस्पताल की मांग की। इस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि डॉक्टर रावत को शिकायत का मौका नहीं देंगे। गुरुवार को उनका जन्म दिन है, वह इस दिन घोषणा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जहां पर 20 हजार से अधिक मजदूर हैं, वहां पर ईएसआइसी अस्पताल खोले जाएंगे। प्रदेश श्रम मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि ईएसआइसी अस्पताल की योजना सबसे गरीब परिवार के लिए है। 21 हजार से कम वेतन पाने वाले कर्मचारी व मजदूर इसका लाभ उठा सकते हैं। राज्य में सात लाख पंजीकृत मजदूर हैं, जबकि 28 लाख लोग इसका लाभ उठा रहे हैं।




error: Content is protected !!