BREAKING NEWS

एक्शन मे डीएम उत्तरकाशी – उप कार्यक्रम अधिकारी (डीपीओ) चिन्यालीसौड़ व भटवाड़ी को 48 घंटे के भीतर दोनों को कारण बताओ नोटिस

1097

विधान सभा चुनाव जंग 2022 मे जमीनी तैयारी से कोषो दूर सरकारी सैनिको पर नकेल कसने के संकेत मिलते ही डीएम उत्तरकाशी भी एक्शन मूड मे दिखाई देने लगे है | घायल सैनिक और टूटी तलवार युद्ध मे किसी काम की नहीं – इस फोर्मूले पर काम करते हुए फेंटाई सुरू हो गयी है| चार सालो तक मित्र विपक्ष का तमगा लिए लोग भी अब चुनावी मौसम मे जनता के सामने कई सवाल करेंगे और जबाब देने के लिए सेना से लूले लँगड़े घोड़ो को अलग करने की कवायद सुरू हो गयी है | अब तो लोग भी कहने लगे है – कार्य अच्छा है काश ! हर साल चुनाव होते

ग्राम्य विकास विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी श्री मयूर दीक्षित ने मनरेगा के अन्तर्गत किए जाने वाले कार्यो में लापरवाही बरतने पर उप कार्यक्रम अधिकारी (डीपीओ) चिन्यालीसौड़ व भटवाड़ी की सेवा समाप्ति की चेतावनी देते हुए अगले 48 घंटे के भीतर दोनों को कारण बताओ नोटिस का जवाब देने के निर्देश दिए। स्पष्ट व संतोषजनक जवाब नहीं देने पर दोनों की सेवा समाप्ति करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए। वहीं खण्ड विकास अधिकारी भटवाड़ी द्वारा भी विकास खण्ड में संचालित योजनाओं की पूर्ण व अपूर्ण कार्यो की जानकारी नहीं होने तथा एफटीओ रिजनरेशन एवं खाते सुधारीकरण के बारे में संतोषजनक जवाब नहीं देने पर प्रतिकूल प्रविष्टि देने हेतु चेतावनी पत्र जारी करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए। तथा खण्ड विकास अधिकारी चिन्यालीसौड़ द्वारा 2018-19 के 21 अपूर्ण कार्य को पूर्ण नहीं करवाने पर अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए।

    मनरेगा की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जिले के विकास एवं योजनाओं का धरातलीय स्वरूप देने के लिए खण्ड विकास अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसलिए समस्त खण्ड विकास अधिकारी व अधीनस्थ कार्मिक अपनी कार्यशैली में सुधार लाना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने मनरेगा के अन्तर्गत मैनडेज,कोविड-19 के कारण अपने घरों की ओर लौटे प्रवासियों को रोजगार देने,विकास खण्डवार कार्य पूर्ति दर,श्रमिकों के भुगतान,जीओ टैग, एफटीओ रिजनरेशन एवं खाते सुधारीकरण,एनआरएलएम,जीआईएस प्लान आदि की समीक्षा की। डीपीओ चिन्यालीसौड़ स्तर से मनरेगा श्रमिकों का समय से भुगतान नहीं करने पर उनकी वेतन से मजदूरी भुगतान करने के निर्देश खण्ड विकास अधिकारी को दिए।

जिलाधिकारी ने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को सक्त चेतावनी देते हुए अगली बैठक तक कार्य पूर्ति दर,जीआईएस प्लान और जीओ टैग आदि कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।  

    बैठक में प्रभारी जिला विकास अधिकारी विमल कुमार ने अवगत कराया कि जनपद में मनरेगा के अन्तर्गत माह सितम्बर तक करीब 16 लाख मैनडेज लक्ष्य के सापेक्ष 14 लाख मैनडेज पूर्ण कर लिए गए है। तथा 474 परिवार ऐसे है जिन्हें 100 दिन का रोजगार दिया गया है। इसके अतिरिक्त कोविड-19 के कारण अपने घरों की और लौटे प्रवासियों को भी मनरेगा के अन्तर्गत रोजगार उपलब्ध कराया गया। जनपद में ब्लाक स्तर पर लगभग 24812 प्रवासी आयें हैं। अप्रैल के बाद 4145 प्रवासियों के नए जॉब कार्ड बनायें गये हैं तथा वर्तमान में भी नए जॉव कार्ड बनाये जा रहें है। इसके अतिरिक्त मनरेगा के अन्तर्गत 9564 प्रवासियों को रोजगार मुहैया करवाया गया हैं।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!