BREAKING NEWS

मसूरी : खाकी का ये रूप भी देखो – जिसका कोई नहीं उसकी मदद के लिए बने मददगार

289

खाकी को देखकर अक्सर खौफ का ही माहोल दिखाई देता है पर खाकी इससे भी हटकर है और कई मौको पर उसने इसे साबित भी करके दिखाया है |कोरोना के दौर में जब लोग अपने अपनों से भी जरा सी बीमारी में संक्रमण फैलने के डर से दुरी बना रहे है ऐसे में ट्रैफिक के ये दरोगा अपने हाथो से कई दिनों से बीमार इस भिखारी को इंसानियत के नाते मदद के लिए आगे आये है | एक सैल्यूट तो बनता है |

आज हम उस खाकी वर्दी धारी की कहानी बता रहे है जिसके पास नगर में ट्रैफिक व्यवस्था संचालित करने की  जिम्मेदारी दी गयी है अपनी जिम्मेदारी से हटकर जब इस युवा पुलिस अधिकारी कि जानकारी में आया कि लम्बे समय से एक भिखारी बीमार और असहाय पड़ा हुआ है तो तत्काल उसकी मदद के लिए मौके पर पंहुचा और उसे एम्बुलेंस कि मदद से अस्पताल पहुचाया और उसकी हर संभव मदद का भरोसा दिलाया

सिविल लाइन  साईं मंदिर के सामने पिछले कई दिन से सड़क किनारे पड़े भिखारी की मदद को जब कोई नहीं पहुंचा तो  इस फ़र्ज़ को निभाया ट्रैफिक पुलिस ने। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे ट्रैफिक पुलिस के सब  इंस्पेक्टर योगेश  सक्सेना भी मौके पर पहुंचे |  बीमार भिखारी की हालत को देखकर उनका भी दिल पसीज गया उन्होंने भिखारी को  उठाकर एम्बुलेंस में रखा  और सिविल हॉस्पिटल भेज दिया। जहां उसका उपचार चल रहा है। बीमार भिखारी के आसपास इतनी अधिक गंदगी गंदगी जमा थी कि कोई भी उसकी मदद को आगे नहीं आ रहा था लेकिन सब इंस्पेक्टर ने इसकी ज़रा भी कोई परवाह न करते हुए  अपने हाथों से उठाकर उसे एम्बुलेंस में रखा । टीआई विजय सक्सेना के इस कार्य की चारों ओर सराहना हो रही है। बीमार भिखारी मेरठ का बताया जा रहा है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!