ट्रक चोरी का खुलासा, दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

Share Now

रुड़की। हरिद्वार पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ट्रक चोरी का खुलासा कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। चोर कोई और नहीं, बल्कि ट्रांसपोर्ट कंपनी का पूर्व कर्मचारी था। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने ट्रक को भी बरामद कर लिया है। ये पूरा मामला भगवानपुर थाना क्षेत्र का है। सीओ मंगलौर पंकज गैरोला ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि बीती 8 मार्च को ट्रक मालिक मनजीत सिंह भगवानपुर थाने में ट्रक चोरी को लेकर तहरीर दी थी। उन्होंने बताया था कि उनका ट्रक किशनपुर में लॉजिस्टिक ट्रांसपोर्ट कंपनी के बाहर से चोरी हो गया है। पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए मामले की जांच शुरू की। पुलिस ने ट्रक और चोरों का पता लगाने के लिए अलग-अलग टीमें गठित की थी।

पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने के साथ ही मुखबिर तंत्र भी सक्रिय किया। इस दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि जो ट्रक किशनपुर भगवानपुर से चोरी हुआ है, उसे शुगर मिल कॉलोनी देवंबद सहारनपुर देहरादून में देखा गया है। सीओ मंगलौर पंकज गैरोला ने बताया कि ट्रक की जानकारी मिलते ही तत्काल एक टीम देवंबद भेजी गई, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही आरोपियों ने ट्रक का वहां हटा दिया था और उसे कहीं ओर ले गए थे। हालांकि, पुलिस लगातार ट्रक का पीछा कर रही थी। पुलिस ने 8 मार्च की रात को ट्रक के साथ दो आरोपियों सुमित उर्फ गंगा और अमन निवासी इब्राहिमपुर गांव को दौड़बसी तिराहा भगवानपुर से गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे दोनों अच्छे दोस्त है और एक ही गांव के रहने वाले हैं। सुमित महालक्ष्मी लॉजिस्टिक ट्रांसपोर्ट कंपनी किशनपुर में कुछ महीने पहले तक काम करता था। सुमित को पता था कि लॉजिस्टिक ट्रांसपोर्ट कंपनी का गाड़ियां ज्यादातर ऑफिस के बाहर ही खड़ी रहती है। पुलिस के अनुसार कम समय में ज्यादा पैसे कमाने के चक्कर में सुमित ने ट्रक चोरी करने का प्लान बनाया था। दोनों आरोपी 8 मार्च की रात को ट्रांसपोर्ट कंपनी के ऑफिस गए। यहां उन्होंने डुप्लीकेट चाबी लगाकर ट्रक को स्टार्ट किया और फिर वहां से ट्रक लेकर चले गए। आरोपी इस ट्रक को बेचने की फिराक में थे, इसको लेकर देवबंद में उनकी एक से बात भी हो गई थी, लेकिन पुलिस ने उससे पहले ही उन्हें पकड़ लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!