उत्तरकाशी: उच्च हिमालयी क्षेत्र में वन्यजीव गणना एवं जैव विविधता आंकलन पर प्रशिक्षण – सिक्योर हिमालय परियोजना

Share Now


उत्तरकाशी : गंगोत्री राष्ट्रीय पार्क उत्तरकाशी द्वारा सिक्योर हिमालय परियोजना अंन्तर्गत उच्च हिमालयी क्षेत्र में वन्यजीव गणना एवं जैव विविधता आंकलन से संबंधित एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन मनेरी में किया गया।

प्रशिक्षण में गंगोत्री राष्ट्रीय पार्क तथा वन प्रभाग टकनौर एवं गंगोत्री वन रेंज से 50 अधिकारी एवं कर्मचारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

कार्यक्रम का शुभारभं रगंनाथ पाण्डे़, उपनिदेशक गंगोत्री राष्ट्रीय पार्क द्वारा किया गया। प्रशिक्षण में संरक्षण विशेषज्ञों द्वारा प्रतिभागियों को भारतीय वन्य जीव संस्थान द्वारा विकसित हिम तेंदुआ एवं अन्य जीवों के गणना से संबंधित प्रोटोकाॅल विस्तार से बताया गया l जिसमें गणना के दौरान उपयोग किये जाने वाले उपकरण, गणना हेतु वन्यजीवों के पैरों के निशान एवं मलमूत्र तथा अन्य अप्रत्यक्ष संकेतों के द्वारा वन्यजीवों की पहचान करना एवं गणना का अनुमान लगाना बताया गया। विशेषज्ञों के द्वारा यह भी बताया गया की उक्त विधि से शत-प्रतिशत सही अनुमान लगा पाना उचित नहीं होगा इसलिए गणना करने हेतु अन्य विधियों को भी साथ में लागू किया जाता है।

प्रशिक्षण के दौरान प्रतिभागीयों को प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन एवं उन पर आधारित आजीविका समुदाय की निर्भरता की बारिकियों से प्रशिक्षार्थियों को अवगत कराया गया

प्रशिक्षण में यह भी बताया गया कि समुदाय कि भागीदारी के बिना वन एवं वन्यजीवों का संरक्षण संभव नहीं है l अतः समुदाय की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय अधिकारी एवं कर्मचारीयों को समुदाय से निरन्तर वार्तालाप स्थापित करना चाहिए।

प्रशिक्षण में रगंनाथ पाण्डे़, उपनिदेशक गंगोत्री राष्ट्रीय पार्क द्वारा नवनियुक्त वन आरक्षियों को गंगोत्री राष्ट्रीय पार्क की भौगोलिक परिस्थितियों से परिचित कराया गया l एवं बताया गया की क्षेत्र भ्रमण के दौरान जैव विविधता से संबंधित आंकड़े एकत्रित कर प्रतिमाह उपनिदेशक कार्यालय को प्रेषित करेंगे l जिससे शौधकार्यो एवं प्रबन्धन कार्य योजना को क्रियान्वित करने में लाभ मिलेगा।

प्रशिक्षण में मानव वन्य जीव संघर्ष को कम करने के लिए ‘‘ भालू और हम‘‘ तथा गंगोत्री राष्ट्रीय पार्क से संबंधित फिल्मों को दिखाया गया एवं उक्त प्रशिक्षण से संबंधित साहित्य सभी प्रतिभागीयों को दिया गया।

प्रशिक्षण के दौरान वन क्षेत्राधिकारी, प्रताप पंवार, परियोजना साहयक, भास्कर जोशी, उम्मेद धाकड, अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!