462.93 करोड़ रु की लागत से 180 किलोमीटर सीवर लाइन बिछाई जाएगी

Share Now

ऋषिकेश। जर्मन सरकार के क्लाइमेट प्रूफिग प्रोजेक्ट (केएफडब्ल्यू) के अंतर्गत ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र में पहले चरण में 462.93 करोड़ रुपये की लागत से 180 किलोमीटर सीवर लाइन बिछाई जाएगी। साथ ही पंपिग स्टेशन एवं एसटीपी प्लांट निर्माण का कार्य भी होगा। जिसके प्रथम फेस के पांचवें पैकेज में लगभग 132 करोड रुपए की लागत से कार्य शीघ्र ही प्रारंभ किए जाएंगे जिसकी टेंडर प्रक्रिया अंतिम चरण में हैद्य यह जानकारी विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने पेयजल निगम के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद कही।
       बैराज मार्ग स्थित कैंप कार्यालय में मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष अग्रवाल ने निर्माण एवं अनुरक्षण इकाई (गंगा) उत्तराखंड पेयजल निगम के उच्चाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में इस सीवर योजना के निर्माण कार्यों को लेकर चल रही कार्यवाही के संबंध में अधिकारियों ने विधानसभा अध्यक्ष को विस्तार से जानकारी दी।अधिकारियों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष को अवगत कराया गया कि केएफडब्ल्यू जर्मन बैंक द्वारा वित्त पोषित परियोजना की प्रथम चरण के पैकेज नंबर के अंतर्गत 132 करोड़ रूपए की लागत से सर्वहारा नगर, वीरभद्र मार्ग सोमेश्वर नगर, गंगा नगर, बापू ग्राम, शिवाजीनगर, मीरा नगर, गंगा विहार सोमेश्वर मंदिर मार्ग एवं सुभाष नगर क्षेत्र में 56 किलोमीटर सीवर लाइन बिछाने के साथ ही आस्था पथ एवं आवास विकास में दो पंपिंग स्टेशन का निर्माण कार्य टेंडर प्रक्रिया के बाद शीघ्र ही प्रारंभ किया जाए।
             विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इस योजना के सम्बंध में वे कई बार अधिकारियों के साथ बैठक कर योजना के क्रियान्वयन संबंधी कार्रवाई करते रहे हैं। अग्रवाल ने कहा कि 462.93 करोड़ रुपये की लागत से सीवर योजना के निर्माण कार्यों के धरातल पर उतरने की कार्रवाई अंतिम चरण में है। जल्द ही इसका लाभ ऋषिकेश की शहरी एवं ग्रामीण जनता को मिलेगा। विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों को योजना से संबंधित सभी आवश्यक कार्यवाहियों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।
साथ ही अग्रवाल ने इस योजना के अंतर्गत त्रिवेणी कॉलोनी, पंचवटी कॉलोनी, भैरव कॉलोनी को भी जोड़ने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। पेयजल निगम के अधिकारियो द्वारा बताया गया  कि केएफडब्ल्यू योजना के अंतर्गत पहले चरण में ऋषिकेश नगर के समस्त वार्ड एवं खदरी खड़कमाफ, गुमानीवाला, श्यामपुर ग्रामीण क्षेत्र में 180 किलोमीटर सीवर लाइन बिछाया जाना प्रस्तावित है। इसके साथ ही आस्था पथ व आवास विकास में एक-एक सीवरेज पंपिग स्टेशन तथा खदरी खड़कमाफ ग्रामीण क्षेत्र में 2-0 एमएलडी का सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाया जाना है। इसके तहत लगभग सवा लाख से अधिक जनसंख्या को सीवर योजना से लाभान्वित किया जायेगा एवं यह परियोजना आने वाले 30 सालों को ध्यान में रख कर बनायी गयी है। इस अवसर पर पेयजल निगम के परियोजना प्रबंधक आरके सिंह, परियोजना अभियंता रविंद्र सिंह, परियोजना अभियंता धर्मेंद्र प्रसाद उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!