देवभूमि के खाकी का मान – ईमानदारी का अल्प वेतन उन्हे संतुष्ट करता है – दूसरे के धन पर नहीं डोलता मन – पीआरडी

Share Now

श्रद्धालु का खोया पर्स पीआरडी जवान ने लौटाया वापस।

देवभूमि उत्तराखंड यू ही देवभूमि नहीं कही जाती, यहाँ चार धाम यात्रा के दौरान उत्तराखंड पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ड्यूटि कर रहे पीआरडी जवान भी मित्रता,सेवा, और सुरक्षा के भाव के साथ ईमानदारी से सेवा मे डटे है । वेतन भले ही कम है ,  लेकिन जो भी है ईमानदारी का ही लेना पसंद करते है , किसी और की बड़ी रकम पर जिनका मन नहीं डोलता , ये प्रभाव है देव भूमि का और यहा के निवासियों का जो इसे चरितार्थ कर रहे है । 

बुधवार  04.05.2022 को यमुनोत्री धाम यात्रा पर आये मध्यप्रदेश निवासी श्रद्धालु का यात्रा के दौरान यमुनोत्री पेैदल मार्ग राम मन्दिर, जनकीचट्टी के पास पर्स खो गया था,जिसमें उनकी 35000 के करीब की नगदी व कुछ जेवरात रखे थे, सूचना मिलते वहां पर ड्यूटी पर तैनात पीआरडी जवान दीपक डोभाल द्वारा मित्रता,सेवा, सुरक्षा के स्लोगन को चरितार्थ करते हुये यात्री के बताये घटनाक्रम के अनुसार  पर्स को तलाश कर वापस यात्री के सुपुर्द किया गया, श्रद्धालु द्वारा पीआरडी जवान दीपक व उत्तराखण्ड पुलिस का आभार प्रकट किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!