10 दिनो से फरार मुनीम – फिर चर्चा मे आए बीजेपी विधायक चैंपियन – वायरल विडियो मे रो रहे है लापता , विधायक का बफादार मुनीम

Share Now
  • बीजेपी विधायक की दबंगई से परेशान मुनीम का परिवार अचानक हुआ गायब, पीड़ित परिवार का रोते बिलखते वीडियो हुआ वायरल|

खानपुर के 4 बार के विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन एक बार फिर बड़ी सुर्खियों में आ गए। इस बार उनकी दबंगई किसी और पर नही बल्कि अपने वफादार मुनीम पर ही दिखाई दी। चैंपियन के मुनीम का पूरा परिवार रातो रात पिछले 10 दिनों से बच्चों सहित फरार हो गया जिसकी भनक न पुलिस के पास है और न पड़ोसियों के पास है। अचानक देर रात एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसमें कुंवर प्रणव सिंह का मुनीम यानी संजय अग्रवाल और उसका बड़ा भाई किसी अज्ञात जगह पर बैठे है और दोनो भाई रो रहे है। अग्रवाल समाज से ताल्लुक रखने वाले संजय अग्रवाल जो कुंवर प्रणव सिंह के बेहद ही वफादार पुराने मुनीम हुआ करते थे इस वीडियो में चैंपियन की दबंगई से डर कर धर्म परिवर्तन करने की बात तक कह रहे है। कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन और संजय अग्रवाल के बीच कुछ लेन देन को लेकर विवाद हुआ था जिसके बाद ये लोग गायब है। संजय अग्रवाल ओर उसके बड़े भाई का एक वीडियो वायरल हो गया जिसमे संजय अग्रवाल रो रहा है और कुंवर प्रणव सिंह पर अपनी सम्पत्ति हड़पने की बात कह रहा है। साथ ही चैंपियन की दबंगई से परेशान होकर धर्म बदलने तक कि दोनों भाई बात कहते नज़र आ रहे है। वहीं इस पूरे मामले पर मंगलौर विधायक काजी निजामुदीन ने भी निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा के विधायकों का आचरण निंदनीय है जिससे उनके चरित्र के बारे में पता चलता है। साथ ही दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री शादाब शम्स ने कहा कि आरोपों की निष्पक्षता से जांच कराई जाएगी और जो भी इसमें दोषी होगा उसपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। भारतीय जनता पार्टी अनुशासन की पार्टी है और जो भी कार्यकर्ता अनुशासनहीनता करता हुआ पाया जाएगा उस पर कड़ी कार्रवाई होगी।

– शादाब शम्स (दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री)
काजी निजामुदीन (विधायक मंगलौर)

चैंपियन ने दी सफाई

खानपुर विधायक कुँवर प्रणव सिंह चैंपियन ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर अपना पक्ष रखते हुए आज पत्रकार वार्ता करते हुए बताया कि आरोप लगाने वेला व्यक्ति उनकी पुस्तैनी सम्पत्ति का हिसाब किताब रखता था, जिसमें करीब 4 करोड़ का घपला उनके द्वारा किया गया है। अब हिसाब मांगने पर ड्रामेबाजी कर झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं। रूड़की में अपने कार्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता में खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने कहा कि लंढौरा निवासी दो भाईयो की एक वीडियो वायरल हो रही है जिसमें उंन्होने उनपर डरा धमकाकर सम्पत्ति हड़पने का आरोप लगाया है। चैंपियन ने कहा कि जो संजय अग्रवाल नाम का व्यक्ति रोकर आरोप लगा रहा है वह उनके पिता की सम्पत्ति जिसमें दुकानें और कृषि भूमि आदि है उनकी देखभाल और हिसाब आदि रखता था। साथ ही इस व्यक्ति ने कई दुकानदारों से दुकानों के नाम पर मोटा पैसा भी इकट्ठा कर लिया था लेकिन पिछले कई सालों से वह कोई हिसाब नही कर रहा था हिसाब करने के लिए 9 जनवरी को संजय अग्रवाल को अपने कार्यालय पर बुलाया जिसमें उससे हिसाब किया गया और जिस पर संजय अग्रवाल ने कुछ छूट मांगी तो डेढ़ करोड़ रुपए छोड़ भी दिए और हिसाब में ढाई करोड़ उनके पास निकले।बाद में संजय अग्रवाल अपने मकानों का बैनामा चैंपियन के नाम करके हिसाब चुकाने की बात कह गए। इसके लिए उसी समय नोटरी भी वह करके गए। अब वह हिसाब करने की बजाय और पैसा मारने की नीयत से ड्रामे करने के साथ झूठे आरोप लगा रहे हैं। साथ ही चैंपियन ने अपने कार्यालय पर सीसीटीवी फुटेज दिखाकर और रिकॉर्डिंग सुनवाकर भी अपना पक्ष रखा।
विधायक चैंपियन के पिता की तहरीर पर सिविल लाइन कोतवाली में धोखाधड़ी का मुकदमा भी दर्ज किया गया है, साथ ही चैंपियन ने भी अपनी तरफ से मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है।

– कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन (विधायक खानपुर)

काँग्रेस पार्टी प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने उठाए सवाल |

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सदस्य एवं प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी नें राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रणव सिंह चैंपियन पर उन्हीं के मुनीम द्वारा आरोप लगाते हुए जो विडियो सोशल मिडिया पर छाये हुए हैं वह हतप्रभ करनें वाले है। उन विडियो में खानपुर से भाजपा विधायक प्रणब चैंपियन के मुनीम उन पर डरानें धमकानें एवं जबरन संपत्ति जब्त करनें के आरोप लगा रहे है लेकिन सूबे का पुलिस महकमा सुप्त अवस्था में है। यहां तक की स्वयं मुख्यमंत्री एवं सरकार भी पूरे प्रकरण पर मौन साधे हुए है। दसौनी नें कहा की सत्तारूढ़ दल का यह चरित्र बन गया है कि वह अपनें विधायको एवं मंत्रियों के कुकृत्यों को लेकर हमेशा बचाव कि स्थिति में रहता है इस से पहले भी यौन उत्पीड़न मामले में द्वाराहाट से भाजपा विधायक महेश नेगी प्रकरण में तो पहले एफआईआर दर्ज करनें में हिलाहवाली कि गयी और अब प्राथमिकि दर्ज होनें के बाद भी भाजपा अपनें विधायक के ही पक्ष में खड़ी दिखाई पड़ रही है। सरकार से विवादों के पर्यायवाची प्रणव सिंह चैंपियन पर कोई कार्यवाही की उम्मीद करना सर्वथा बेमानी होगा दसौनी नें कहा लेकिन मुनीम व उसके परिवार पर प्रणव द्वारा किया जा रहा अत्याचार प्रथम दृष्टया गंभीर एवं अत्यंत संवेदनशील मामला है जिसका संज्ञान पुलिस प्रशासन एवं सरकार को शीघ्र-अतिशीघ्र लेकर जांच शुरू करनी चाहिये जिससे किसी बड़ी अनहोनी को टाला जा सके। दसौनी नें यह भी कहा कि मुनीम के सोशल मीडिया पर जो विडियो वायरल हो रहे हैं वो मार्मिक होनें के साथ-साथ किसी बड़ी साजिश की ओर इशारा करते हैं। दसौनी नें सरकार को ललकारते हुए कहा कि शायद त्रिवेन्द्र रावत सरकार की सच्चाई यही है की उनके भाषण ही शासन हैं। बड़े-बडे़ नारे देनें वाली पार्टी आज सुशासन के मामले में पूरी तरह विफल रही है। सत्तासीन दल के ही विधायको नें जनता का शोषण कर रखा है।

गरिमा मेहरा दसौनी
प्रदेश प्रवक्ता कांग्रेस


Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!