नियमों का उल्लंघन करने वाले ईट-भट्टांे के खिलाफ कार्रवाई की जाए

Share Now

रूद्रपुर। अपर मुख्य सचिव पर्यावारण संरक्षण एवं जलवायु परिर्वतन के अध्यक्ष आनन्द वर्धन की अध्यक्षता में राज्य स्तर पर गठित अनुश्रवरण समिति की वीडियों काॅनफे्रन्सिगं के माध्यम से समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रदुषण के रोक-थाम हेतु नियमो का अनुपालन करते हुये ईट के भट्टो का संचालन सुनिश्चित कराये यदि किसी ईट-भट्टो द्वारा नियमो का उल्लंघन किया जाता है तो उसके खिलाफ आवश्यक कार्यावाही सुनिश्चित की जाये। उन्होने कहा कि वायु प्रदुषण के नियंत्रण हेतु काशीपुर के लिये तय की गयी संस्था आईआईटी रूड़की के विशेषज्ञ की सलाह से कार्य किया जाये। उन्होने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिये कि काशीपुर में अमजन हेतु वायु गुणवत्ता को प्रदर्शित करने के लिये मुख्य चैराहो पर डिस्प्ले लगाना सुनिश्चित करे। उन्होने नगर निगम काशीपुर को निर्देश दिये कि पर्यावारण प्रकोष्ठ का गठन शीघ्र किया जाये जिससे क्षेत्र में वायु प्रदुषण नियंत्रण हेतु प्राथमिकता तय करते हुये कार्य किया जा सकें। उन्होने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण की रोक-थाम हेतु एक्सन प्लान नगर निगम काशीपुर के लिये 18.9 करोड धनराशि स्वीकृत की गयी है। जिसके सापेक्ष 03 करोड आवंटित कर दिया गया हैं। उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि राज्य सरकार द्वारा बनायी गयी ईधन नीति का अनुपालन कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि प्रतिबन्धित ईधनो का उपयोग करने वाले औद्योगिक संस्थानों पर आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।         इस दौरान जिलाधिकारी श्रीमती रंजना राजगुरू ने अवगत कराया कि पर्यावरण को समर्पित हरेला पर्व के अवसर पर जनपद में अधिक से अधिक वृक्षा रोपण किया जायेगा जिसके लिये सभी विभागों के साथ बैठक कर कार्ययोजना तैयार कर ली गयी हैं। उन्होने कहा कि सभी विभागों को निर्देशित किया गया है कि आम जनता को भी जागरूक करते हुये अधिक से अधिक वृक्षा रोपण कराया जाये। उन्होने कहा कि औद्योगिक संस्थानों के प्रतिनिधियों से वार्ता कर ली गयी है, जिसके लिये औद्योगिक संस्थानों के पदाधिकारियों द्वारा अधिक से अधिक वृक्षा रोपण करने हेतु सहमति जतायी गयी है। उन्होने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण की रोक-थाम हेतु नगर निगम काशीपुर को आवश्यक गतिविधियों पर विशेष ध्यान देने हेतु निर्देशत किया गया है। उन्होने अवगत कराया कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि प्रतिबन्धित ईधनो का उपयोग औद्योगिक संस्थानों न हो। उन्होने क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिये कि समय-समय पर औद्योगिक संस्थानों का औचक निरीक्षण करें ताकि प्रतिबन्धित ईधन का उपयोग पर अंकुश लगाया जा सकें। उन्होने कहा कि किसी भी औद्योगिक संस्थानों में प्रतिबन्धित ईधन का उपयोग करते हुये पाये जाने पर आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करे। इस अवसर पर क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड काशीपुर नेरश गोस्वामी महाप्रबन्धक उद्योग चंचल बोहरा, एआरटीओ काशीपुर अशीत कुमार झा, उप निदेशक खनन दिनेश कुमार, एसडीओ वन विभाग जगमोहन सिंह, सहित वर्चुअल के माध्यम से सहायक नगर आयुक्त काशीपुर आलोक कुमार उपस्थित थे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!