एडीएम ने अल्पबचत एवं राजस्व विभाग में आनलाइन कार्यों का और अधिक सरलीकरण करने के निर्देश दिए

Share Now

देहरादून। राष्ट्रीय बचत एवं अल्प बचत योजना की औपचारिकताएं सरल, सुगम एवं ऑनलाईन किये जाने के सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व रामजीशरण शर्मा ने अपने कार्यालय कक्ष में आईटीडीए के प्रोजेक्ट मैनेजर एवं प्रोग्रामर के साथ बैठक आयोजित करते हुए अल्पबचत एवं राजस्व विभाग में अन्य आनलाईन कार्यों को और अधिक सरलीकरण करने के निर्देश दिए ताकि जनमानस अनावश्यक कार्यालयों में न भटकना न पड़े। अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व ने निर्देश दिए कि एजेंट एवं एजेंसी लाईसेंस के नवीनीकरण की प्रक्रिया को भी अपणी सरकार पोर्टल पर ऑनलाईन प्रक्रिया के तहत् करने के निर्देश दिए ताकि दूरदराज से आने वाले लोगों को अनावश्यक न भटकना पड़े। उन्होंने आईटीडीए के अधिकारियों को निर्देश दिए राजस्व विभाग में संचालित अन्य ऑनलाईन सेवाओं को सरलीकरण के निर्देश दिए।
राष्ट्रीय अल्पबचत योजनाओं मे जिले के शिक्षित मैट्रिक योग्यता रखने वाले बेरोजगार वयस्क स्त्री, पुरुष को रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध हैं, जिसके अन्तर्गत कार्य के समय का स्वयं निर्धारण के साथ नियमित आय होती है। जिले के शिक्षित मैट्रिक योग्यता रखने वाले बेरोजगार वयस्क स्त्रीध्पुरुष राष्ट्रीय अल्प बचत योजनाओं में एजेन्ट बन कर अपनी आय बढ़ा सकते हैं। स्टैण्डराईज्ड एजेंसी सिस्टम में महिला प्रधान क्षेत्रीय बचत योजना के अन्तर्गत एजेन्ट जन सामान्य को राष्ट्रीय अल्पबचत योजनाओं की जानकारी देकर योजनाओं में निवेश के लिए जन सामान्य को प्रोत्साहित करना एवं राष्ट्रीय अल्प योजनाओं में नियमानुसार राशि डाकघर में जमा करवाकर प्रमाण-पत्र, पास-बुक निवेशक तक पहुँचाना है। स्टैण्डराईज्ड एजेंसी सिस्टम के अन्तर्गत डाकघर की बचत योजनाएँ किसान विकास पत्र राष्ट्रीय बचत पत्र, मासिक आय योजना, सावधि-जमा खाता, मासिक आय योजना में निवेश पर 0.5 प्रतिशत तथा महिला प्रधान क्षेत्रीय बचत योजना के अन्तर्गत इकघर के 5 वर्षीय आवर्ती जमा खाता में निवेश पर 04 प्रतिशत परिश्रमिक (कमीशन) डाकघर द्वारा भुगतान किया जाता है। नवीन एजेंसी स्टैण्डराईज्ड एजेंसी सिस्टम कोई भी व्यस्क पुरूष एवं स्त्री एजेंसी ले सकते है। जिसके नियुक्ति प्राधिकारी जिलाधिकारी होते हैं। उत्तराखण्ड राज्य में अपणी सरकार पोर्टल पर आनलाईन माध्यम से इस योजना के अन्तर्गत एजेंट बनने हेतु आवेदन किया जा सकता है। बैठक में प्रोजेक्ट मैनेजर आईटीडीए सरवन कपूर, प्रोग्रामर वैभव, वरिष्ठ सहायक आशीष रावत आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!