मौसम एलर्ट के बाद हरिद्वार/ऋषिकेश में भी बड़ी संख्या में रुके है चारधाम यात्री

Share Now

•चारों धामों में बारिश तथा दूर पहाड़ियों पर बर्फवारी
लेकिन हालात सामान्य

चार धाम यात्रा अपडेट
उत्तराखंड चारधाम जानेवाले तीर्थयात्री कल 17 अक्टूबर प्रात: तक बड़ी संख्या में ऋषिकेश एवं हरिद्वार पहुंचे है प्रशासन द्वारा उन्हें सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है इस क्रम में कई तीर्थयात्री हरिद्वार रेल्वे स्टेशन‌ एवं ऋषिकेश बस अड्डे पर रूके हुए हैं हालांकि प्रशासन की उद्घोषणा के बाद 17 अक्टूबर प्रात: से ऋषिकेश बस अड्डे‌ में चार धाम से संबंधित वाहनों का संचालन बंद कर दिया गया है। ऋषिकेश – लक्ष्मण झूला सड़क मार्ग को वन वे कर दिया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम आनेवाले तीर्थयात्रियों से अपील की है कि मौसम की स्थिति को देखते हुए दो दिन सामान्य स्थिति होनेक तक चारधाम यात्रा को टाल दें।


चंद्रभागा पुल, तपोवन, लक्ष्मण झूला,मुनिकीरेती भद्रकाली बेरियर से पुलिस ने यात्री वाहनों का प्रवेश बंद किया हुआ है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री केदारनाथ धाम में कल रात से बारिश है लेकिन मंदाकिनी का जल स्तर अभी सामान्य है।


सुरक्षा दीवार के निकट नदी का प्रवाह सामान्य है। मंदिर में सुबह से कुछ तीर्थयात्रियों ने दर्शन किये है
श्री केदारनाथ के निकट ऊंची चोटियों पर बर्फवारी हो रही है।


श्री बदरीनाथ धाम में कल रात से लगातार हल्की बारिश है सभी निकटवर्ती पहाड़ियों पर बर्फवारी हो रही है
श्री गंगोत्री यमुनोत्री धाम में हल्की बारिश है। यात्रा मार्ग सुचारू हैं।
कल17 अक्टूबर से ही जिला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा चारों धामों में मौसम की स्थिति एवं तीन दिन के एलर्ट को देखते हुए हरिद्वार,ऋषिकेष, सहित श्रीनगर, टिहरी, उत्तरकाशी रूद्रप्रयाग, गुप्तकाशी, उखीमठ कर्णप्रयाग, चमोली, जोशीमठ, पांडुकेश्वर आदि स्थानों में तीर्थयात्री फिलहाल जहां तक पहुंचे हैं कल तक उन्हीं स्थानों में सुरक्षित रूकने को कहा जा रहा है देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि चारों धाम श्री बदरीनाथ, श्री केदारनाथ, श्री गंगोत्री, श्री यमुनोत्री धाम में नित्य प्रतिदिन होनेवाली पूजाएं संपन्न हो रही है। हालांकि बारिश एवं बर्फवारी से धामों में मौसम सर्द हो गया है।जो तीर्थयात्री धामों में रूके हैं वह सुरक्षित है मंदिर में दर्शन हेतु भी पहुंच रहे है हालांकि मौसम सामान्य होने के बाद ही वह अपने गंतव्य को प्रस्थान करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!