कांग्रेस में चल रही है विरोध प्रदर्शन की प्रतिस्पर्धा, सीएम आवास कुछ स्टंटः चैहान

Share Now

देहरादून। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार ही लोकयुक्त विधेयक को लायी थी और इसे लागू भी करेगी। उन्होंने कांग्रेस द्वारा किसानों के मुद्दों पर सीएम आवास घेराव को राजनैतिक स्टंट बताया। मीडिया द्धारा पूछे गए सवालों का जबाब देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ही भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस नीति के तहत ही लोकयुक्त बिल लेकर आई थी, जिसे तत्कालीन कॉंग्रेस विधायकों के विरोध के बाद सर्वसममिति से विधानसभा की प्रवर समिति को सौंपा गया था। अब चूंकि इस पूरे मसले पर न्यायालय का निर्णय है, जिसका सरकार द्धारा पूरी तरह से पालन किया जाएगा। पार्टी इसे लागू करने को लेकर पूर्णतया प्रतिबद्ध है लिहाजा इस विषय पर किसी को राजनीति करने से कोई लाभ नहीं मिलने वाला है। उन्होने हरदा के नेतृत्व में हरिद्धार में बाढ़ से उत्पन्न आपदा को लेकर कोंग्रेसी घेराव को राजनैतिक स्टंट करार दिया है।
उन्हांेने स्पष्ट किया कि सभी जानते हैं, इस समस्या को लेकर मुख्यमंत्री श्री पुष्कर धामी के निर्देशों पर गंभीरता से लेते हुए दो कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज और गणेश जोशी प्रभावित क्षेत्र में पीड़ित किसानों से मिलकर उनकी समस्याओं को दूर कर रहे हैं। हरिद्धार की जनता सरकार के प्रयासों से पूरी तरह संतुष्ट है, यही वजह है कि वहाँ किसी भी तरह का कोई जन आंदोलन नहीं चल रहा है। लेकिन कांग्रेसी दुष्प्रचार के लिए राजधानी में विरोध प्रदर्शन और घेराव का यह पूरा राजनैतिक कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं। इसके अलावा सीएम से किसान हरिद्वार दौरे पर वार्ता कर चुके है और वह आपदा मे सरकार द्वारा चलायी गयी प्रबंधन व्यवस्था से संतुष्ट भी है, लेकिन कांग्रेस को किसानों के बजाय अपनी सियासी चिंता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस मे समय समय पर ऐसी प्रतिस्पर्धा चलना सामान्य बात है। कॉंग्रेस की आपसी गुटबाजी का ही नतीजा है कि पहले दिन एक गुट का कार्यक्रम होता है तो दूसरे दिन दूसरे द्वारा आयोजन किया जाता है। वीरवार को भी कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा के नेतृत्व में राज्य की बहिनों का अपमान करते हुए सीएम आवास घेराव किया गया और अब पूर्व सीएम हरीश रावत की अगुआई में घेराव कार्यक्रम है। कांग्रेस को जनता के मुद्दों से कोई सरकार नहीं है और सिर्फ एक दूसरे से आगे निकालने की होड है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!