बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, सरकार का पुतला फूंका

Share Now

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्रवान पर बिजली, पानी, प्याज, टमाटर सहित सब्जियों एवं अनाजों के बढ़ते दामों तथा रोज-रोज बढ़ती मंहगाई को लेकर आज प्रदेशभर के सभी जिला एवं शहर मुख्यालयों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन के साथ भाजपा सरकार का पुतला दहन किया गया। इसी कार्यक्रम के तहत आज प्रदेश मुख्यालय देहरादून में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेसजनों ने प्रदर्शन करते हुए भाजपा सरकार के पुतले को आग के हवाले किया।
इस अवसर पर प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा के शासन में मंहगाई अपने चरम पर है तथा आम आदमी का जीना दूभर हो चुका है। बिजली, पानी एवं अनाजों के दाम बेतहाशा बढते जा रहे हैं तथा भाजपा की केन्द्र व राज्य सरकारें मंहगाई पर काबू पाने में असफल साबित हुई हैं। 100 दिन में मंहगाई कम करने का वायदा करने वाली मोदी सरकार ने मंहगाई से देश की जनता का बुरा हाल कर दिया। बढ़ती मंहगाई के विरोध में कांग्रेस पार्टी आम जनता के साथ खडी होकर सरकार की नीतियों का विरोध करती है। उन्होंने कहा कि 2014 में 450 रु का रसोई गैस सिलेण्डर 700 रु पार कर गया है, पेट्रोल 80 रूपये तथा डीजल 75 रूपये पर पहुंच गया। भा0ज0पा0 सरकार ने उत्पाद शुल्क में 9 गुना की वृद्धि की है जिसका भार सीधा आम उपभोक्ता की जेब पर पडा है और जिसकी मार हमारी रसोई तक सीधी पहुंची है। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी जी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा सरकार बनने पर मंहगाई कम करने, दो करोड़ बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने का वायदा एक जुमला साबित हुआ। प्रीतम सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लोगों के रोजगार ठप्प हो चुके हैं तथा पहले से मंहगाई की मार झेल रहा आम आदमी अब पेट्रोलियम पदार्थों (डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस) के दामों में लगातार हो रही वृद्धि से जरूरत की चीजों के दामों में कई गुना वृद्धि के कारण पीड़ित है। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में वृद्धि के कारण खाद्य्य पदार्थों सहित सभी चीजों के दामों में स्वाभाविक रूप से वृद्धि होनी निष्चित है। विषेशकर खाद्य्य पदार्थों की बढ़ती कीमतों के कारण आम आदमी को दो वक्त की रोटी के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है तथा मंहगाई का बोझ आम आदमी के जीने की राह और कठिन बना रहा है।

देखने वाली बात ये है कि दिल्ली बार्डर पर बैठे किसानो के समर्थन कर रही काँग्रेस खाध्य पदार्थ अनाज और शब्जी के दामो मे बृद्धि का रोना रो रही है , किसानो को अच्छी कीमत भी मिले और महंगाई मे बृद्धि भी न हो , इस गणित को काँग्रेस सरकार को अपनी सत्ता वाले राज्यो मे प्रयोग के तौर पर अजमने के बाद रास्ट्रिय स्तर पर लागू करने की वकालत करनी चाहिए ताकि आम लोगो को भी किसान और बिछोलियों के बीच का फर्क समझ आए कि आखिर खेत पर खून पसीना एक करने वाले किसनाओ कि मेहनत का हिस्सा कौन से बिचोलिए डकार रहे है ?

पुतला दहन में प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत, पूर्व मंत्री दिनेश अ्रगवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, उपाध्यक्ष आर्येन्द्र शर्मा, प्रदेश महामंत्री नवीन जोशी, राजेन्द्र शाह, पूर्व विधायक राजकुमार, गोदावरी थापली, ताहिर अली, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, पूर्व मंत्री अजय सिंह, जिलाध्यक्ष संजय किशोर, प्रभुलाल बहुगुणा, प्रदेश सचिव सीताराम नौटियाल, नवीन पयाल, गरिमा दसौनी, संदीप चमोली, कमरखान ताबी, गिरीश पुनेड़ा, राजेश चमोली, पूर्व नेता प्रतिपक्ष नीनू सहगल, डाॅ0 प्रदीप जोशी, शांति रावत, मंजुला तोमर, प्रणीता बडोनी, विकास नेगी, नवनीत कुकरेती, जगदीश धीमान, भूपेन्द्र नेगी, कमलेश रमन, पायल बहल, मामचन्द, डाॅ0 विजेन्द्र पाल आदि कार्यकर्ता शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!