विभिन्न योजनाओं के तहत हो रहे निर्माण कार्यों की डीएम ने की समीक्षा

Share Now

रूद्रप्रयाग। जनपद में विभिन्न विभागों के माध्यम से एसडीआरएफ, न्यूनीकरण अनटाइट फंड के माध्यम से किए जा रहे विभिन्न योजनाओं के निर्माण कार्यों की जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने एनआईसी कक्ष में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर संचालित योजनाओं की विभागवार समीक्षा करते हुए पूर्ण किए गए कार्यों एवं निर्माणाधीन कार्यों की जानकारी प्राप्त की। बैठक में अधिशासी अभियंता सिंचाई केदारनाथ ने जिलाधिकारी को अवगत कराया है कि एसडीआरएफ (दैवीय आपदा) के तहत उनके द्वारा 33 योजनाओं के कार्य उपलब्ध हुए हैं जिसमें 27 योजनाओं के कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं शेष कार्य प्रगति पर हैं तथा अधिशासी अभियंता सिंचाई रुद्रप्रयाग ने अवगत कराया कि उनके द्वारा 42 योजनाओं के कार्य उपलब्ध हुए हैं जिसमें 22 योजनाओं के कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं शेष योजनाओं के कार्य प्रगति पर हैं। अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई ने अवगत कराया कि उन्हें 36 योजनाओं के कार्य उपलब्ध हुए हैं जिनमें 11 कार्यों के लिए टैंडर प्रक्रिया पूर्ण की गई है। लघु डाल द्वारा अवगत कराया गया कि उन्हें 2 योजनाओं के कार्य उपलब्ध हुए हैं जिन पर कार्य पूर्ण किया जा चुका है। शिक्षा विभाग द्वारा अवगत कराया गया है कि उन्हें 34 कार्य उपलब्ध हुए हैं जिनमें 17 योजनाओं पर कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं शेष पर कार्य प्रगति पर हैं। अधिशासी अभियंता जल संस्थान ने अवगत कराया कि उन्हें 11 कार्य उपलब्ध हुए हैं जिनमें 5 कार्य पूर्ण हो चुके हैं तथा शेष पर कार्य प्रगति पर हैं। अधिशासी अभियंता लोनिवि रुद्रप्रयाग ने अवगत कराया कि उनके द्वारा 6 कार्य उपलब्ध हुए हैं जिनमें 2 कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं तथा शेष कार्य प्रगति पर हैं।
जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि उन्हें विभिन्न योजनाओं जिसमें एसडीआरएफ, न्यूनीकरण एवं अनटाइट फंड से धनराशि निर्गत की गई हैं उन योजनाओं पर निर्माण कार्य गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को सचेत करते हुए स्पष्ट किया है कि यदि किसी योजना में गुणवत्ता की कमी पाई जाती है तो संबंधित विभागीय अधिकारियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता एवं लापरवाही क्षम्य नहीं की जाएगी। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि उनके अधीन जो भी निर्माण कार्य किए जा रहे हैं तथा जो कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं उन कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करते हुए उनके फोटोग्राफ्स एवं उपयोगिता प्रमाण-पत्र यथाशीघ्र जिला कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं जिन योजनाओं पर कार्य प्रारंभ नहीं किए गए हैं उनमें नियमानुसार टैंडर प्रक्रिया पूर्ण करते हुए कार्य यथाशीघ्र प्रारंभ करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं कि उनके द्वारा जिन योजनाओं के लिए धनराशि उपलब्ध कराई गई है उन कार्यों को भी शीर्ष प्राथमिकता से यथाशीघ्र पूर्ण करना सुनिश्चित करें।
बैठक में अपर जिलाधिकारी दीपेंद्र सिंह नेगी, अधि. अभि. लोनिवि जीएस रावत, ग्रामीण निर्माण विभाग हितेश पाल सिंह, जल संस्थान संजय सिंह, जल निगम नवल कुमार, सिंचाई पीएस बिष्ट, लघु सिंचाई दीपांकर भारती, लघुडाल प्रदीप कुमार, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार, खंड विकास अधिकारी जखोली सूर्य प्रकाश शाह, अगस्त्यमुनि प्रवीण भट्ट, सहायक खंड विकास अधिकारी ऊखीमठ सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!