नदियों के किनारे कूड़ा फेंकने वालों पर रखी जाए नजरः डीएम

Share Now

रुद्रप्रयाग। गंगा नदी एवं इसकी प्रमुख नदियों के संरक्षण एवं संवर्धन तथा उनकी बेहतर साफ-सफाई व्यवस्था को लेकर जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में जिला गंगा संरक्षण समिति की बैठक आयोजित की गई, जिसमें गत बैठक में दिए गए निर्देशों के अनुपालन में की गई कार्यवाही की जानकारी प्राप्त की गई।
बैठक में जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों से कहा कि जनपद में अवस्थित नदियों की बेहतर साफ-सफाई व्यवस्था की जाए तथा नदियों में किसी भी दशा में आम जनमानस द्वारा कूड़ा-करकट न फेंका जाए। इस पर सभी अधिशासी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रांतर्गत कड़ी निगरानी रखें। इसके साथ ही उन्होंने जनपद के घाटों में बेहतर साफ-सफाई व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से कहा कि नदियों के संवर्द्धन एवं सरंक्षण के लिए नदियों के किनारे वृहद वृक्षारोपण सुनिश्चित किया जाए, इसके लिए उन्होंने आवश्यक प्लान तैयार करने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता लोनिवि को निर्देश दिए कि उनके द्वारा नवनिर्मित सड़कों एवं अन्य सड़कों में भी वृक्षारापेण किया जाए। उन्होंने अधिशासी अभियंता सिंचाई को भू-स्खलन क्षेत्रों में चेकडैम तैयार करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि नदी के किनारे यदि किसी व्यक्ति द्वारा किसी तरह का अतिक्रमण किया जा रहा है, उसके विरुद्ध तत्काल आवश्यक कार्यवाही की जाए। जिलाधिकारी ने नगर पालिका, नगर पंचायतों एवं जिला पंचायत के अधिकारियों से कहा कि वे अपने क्षेत्रों में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें एवं जिन व्यक्तियों द्वारा नदी में कूड़ा डाला जाता है तो उनके खिलाफ नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही की जाए। इसके साथ ही उन्होंने डोर-टू-डोर कूड़ा पृथीकरण की कार्यवाही का व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार किया जाए तथा समस्त अधिशासी अधिकारी नियमित रूप से अपने-अपने निकायों के वार्डों में भ्रमण करना करें। उन्होंने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका रुद्रप्रयाग, नगर पंचायत तिलवाड़ा, अगस्त्यमुनि एवं ऊखीमठ को निर्देश दिए हैं कि कूड़ा निस्तारण के लिए ट्रेचिंग ग्राउंड के लिए चयनित की गई भूमि के संबंध में आवश्यक कार्यवाही किए जाने को लेकर उप वन संरक्षक से समन्वय स्थापित करते हुए इस पर आवश्यक कार्यवाही की जाए। जिलाधिकारी ने नगर पालिका एवं नगर पंचायतों एवं जिला पंचायत के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि उनके अधीन जो भी सफाई कर्मचारी कार्य कर रहे हैं तथा सभी सफाई कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से वर्दी उपलब्ध कराई जाए, बिना वर्दी के कोई भी सफाई कर्मचारी न रहे। इसके साथ ही उन्होंने सभी सफाई कर्मचारियों को आई कार्ड निर्गत करने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने स्वजल को निर्देश दिए कि कूड़ा निस्तारण को लेकर उनके द्वारा मयाली एवं मनसूना में लगाए जा रहे कंपेक्टर मशीनों का कार्य 31 जनवरी तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करते हुए कंपेक्टर मशीनों का कार्य शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी भी तरह का विलंब न किया जाए। बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी अभिमन्यु, जिला विकास अधिकारी मनविंदर कौर, अधिशासी अभियंता सिंचाई केदारनाथ राजेश नौटियाल, लोनिवि जीएस रावत, अधि. अधि. नगर पालिका सुशील कुमार कुरील, नगर पंचायत केदारनाथ हर्षवर्धन, सहायक अभियंता ग्रामीण निर्माण विभाग वीके देवरानी सहित संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!