पुलिसकर्मियों के सामने घर मे घुसकर बुजर्ग दंपति से मारपीट – थानेदार ने रात भर बुजुर्ग को थाने में बैठाया, उत्तराखंडी समाज के एकत्र होने पर हरकत में आई पुलिस।

Share Now

“दिल्ली- 70 वर्षीया बुजुर्ग की मारपीट के शिकायत दर्ज करने में दिल्ली पुलिस ने दबाब के बाद लगाए 10 घंटे , आरोपी की ज़मानत 2 मिनट में मामला पूर्वी दिल्ली थाना न्यूअशोक नगर”

70 वर्ष के बुजुर्ग के साथ मारपीट के मामले में दबाव में दिल्ली पुलिस 10 घंटे बाद किया मुकदमा दर्ज आरोपी के जमानत मिनटों में थाना न्यू अशोक नगर पूर्वी दिल्ली।

हरीश असवाल दिल्ली

पूर्वी दिल्ली के अंबे अपार्टमेंट में किराएदारी के सत्यापन के नाम पर पुलिस कर्मियों के साथ जबरन घुसकर बुजुर्ग दंपति के साथ मारपीट के बाद जान से मारने की धमकी दी गई ,इस मामले की शिकायत जब संबंधित थाने में की गई तो थानेदार ने बुजुर्ग को रात भर थाने में बैठा कर रखा किंतु एफ आई आर दर्ज नहीं हुई ।

इस बीच जब उत्ततखंडी पहाड़ी समाज के लोग बड़ी संख्या में थाने में एकत्र हुए तब जाकर मामला दर्ज हुआ किंतु आरोपी को 2 मिनट के अंदर जमानत मिल गई। पीड़ित ने बताया कि उक्त व्यक्ति स्वयंभू सोसायटी का अध्यक्ष बनकर लोगों से जबरन वसूली करता है इसी संबंध में इससे पहले भी कई मामले मामलों को अंजाम दे चुका है।


पूर्वी दिल्ली न्यू कोंडली जय अम्बे अपार्टमेंट में रविवार रात्रि 8 बजे 70वर्षीया बुजुर्ग मदन सिंह गुंसाई ने लिखित शिकायत में बताया है कि उनके घर में किरायेदार पुलिस सत्यापन के बहाने घुसकर आरोपी नरेंद्र चौधरी उर्फ़ लकी ने अभद्र गाली गलोच और दिल्ली पुलिसकर्मी के मौजदुगी में 70 वर्षीया बुजुर्ग मदन सिंह गुसाई और उनकी बुजुर्ग धर्मपत्नी की मारपीट के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया है आरोप है जब बुजुर्ग दंपति की धर्मपत्नी बीच बचाव में आयी थी तों आरोपी लकी चौधरी ने बुजुर्ग महिला को अभद्र भाषा का प्रयोग के साथ धक्का मारकर किनारा फेंक दिया और जान से मारने की धमकी भी दी, इतना ही नही काफ़ी चीख पुकार शोर मचने के बाद जब पड़ोसी मनोज खनसली बीच बचाव में आए तो आरोपी ने दंबगाई से मनोज खनसली के साथ भी मारपीट की और बच्चों सहित जान से मारने की धमकी दी।

इससे पहले वर्ष 2014 में लिखित रूप से स्पीड पोस्ट के द्वारा सोसायटी में रह रहे उत्तराखंड वर्ग समाज के लोगों को जान मान की धमकीभरी पत्र का आरोप है जो कि सम्बंधित पुलिस थाना न्यू अशोक नगर को शिकायत दी गयी थी इतना ही नही वर्ष 2018 में और 20 मई 20 को एक और आरोपी के खिलाप लिखित शिकायत दर्ज है लेकिन पुलिस द्वारा कोई उचित कार्यवाही नही की गयी ,
आरोप है कि बिना चुनाव के अपने आपको स्वयंभू अध्यक्ष बताने वाला नरेंद्र चौधरी उर्फ लक्की चौधरी सोसायटी में रहने वाले लोगों को आए दिन परेशान करता रहता है और रखरखाव (मेंटेनेंस) के नाम पर अवैध वसूली करता है नही देने वाले के साथ बदसलूकी का धंधा अपनाता है ,
और ख़ुद को बिना Rwa के चुनाव का लाउटस्पीकर पर अध्यक्ष बोलता है ।
,
बताया जाता है कि आरोपी पूर्व में भी सोसायटी में रहने वाले उत्तराखंड समाज के कई लोगों के साथ मारपीट व अभद्रता कर चुका है। इस घटना को लेकर जब पीड़ित बुजर्ग मदन सिंह गुसांई, मनोज खनसली व सोसायिटी के कुछ लोगों के साथ न्यूअशोक नगर थाना में आरोपी के खिलाफ तहरीर देने गए तो पुलिस द्वारा उनकी शिकायत को नहीं सुना गया। आरोप है पुलिस ने रात 8 से लेकर सुबह करीब 4 बजे तक पीड़ित बुजुर्ग जो कि मधुमेह के रोगी भी हैं को थाने में बिठाये रखा। हालाँकि बाद में बड़ी संख्या ने पहुंचे उत्तराखंड लोगों के दबाव में पुलिस द्वारा हल्की फुल्की धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गयी और आरोपी को थाने में बुलाकर महज पूछताछ कर छोड़ दिया गया। इस घटना को लेकर पीड़ित पक्ष द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से उत्तराखंड समाज के लोगों से मदद की गुहार लगायी गई। जिसके बाद इस घटना को लेकर आज मंगलवार को समाजसेवी डॉ. विनोद बछेती के नेतृत्व में उत्तराखंड के साथ विभिन्न सामाजिक संगठनों के करीब 100 से अधिक लोग डीसीपी ऑफिस में पहुंचे। डीसीपी ऑफिस ने प्रतिनिधि के रूप में तीन ही लोगों को बात करने के लिए बुलाया। जिसमें गढवाल हितैषिणी सभा के महासचिव पवन मैठाणी, गढदेशीय भ्रातृ मंडल यमुनापार के प्रतिनिधि के रूप में महावीर सिंह राणा व क्षेत्रीय प्रतिनिधि के रूप में डॉ. विनोद बछेती तथा पीड़ित मदन सिंह गुसांई ने अडिशनल डीसीपी संजय सहरावत से मुलाकात कर इस घटना और उस पर न्यू अशोक नगर थाना द्वारा रात 8 बजे से सुबह 4 बजे तक पीड़ित को थाने में बिठाकर रखने की बात बिस्तार से बतायी ,
गढवाल हितैषिणी सभा के महासचिव पवन मैठाणी ,नेतृत्व डॉ विनोद बछेटि ने बताया कि बातचीत के आधार पर एफआईआर में घर में जबरन घुसकर मारपीट करने की धारा 452 जुड़वायी गयी। साथ ही आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया गया। डीसीपी ने कहा कि वह खुद पीड़ित मदन सिंह गुसांई के घर जायेगें। वहां पर लोगों से मिलकर हालात का जायजा लेगें। साथ ही पीड़ित को घटना के दिन रात आठ बजे से सुबह चार बजे तक थाने में बैठाने के लिए व उनकी एफआईआर न दर्ज करने के लिए डीसीपी (ईस्ट दिल्ली) ने न्यू अशोक नगर थाना के एसएचओ को लापरवाही बरतने पर नोटिस जारी कर दिया है और दो पुलिसक़र्मी को लाइनहाज़िर कर दिया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!