फर्जी आईपीएस अधिकारी आया पुलिस की गिरफ्त में

Share Now

देहरादून। कुल्हाल पुलिस को फोन कर हिमाचल से अवैध खनन समग्री लाने के लिए दबाव बनाना वाला फर्जी आईपीएस अधिकारी दून पुलिस के हत्थे चढ गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है।
मिली जानकारी के अनुसार उ0नि0 प्रवीण सैनी, चैकी प्रभारी कुल्हाल के मोबाइल पर एक व्यक्ति ने कॉल कर .खुद को एक आई०पी०एस० अधिकारी बताकर, पोंटा साहिब, हिमाचल की ओर से 05-06 डंफर अवैध प्रतिबंधित खनन सामग्री धुली बजरी भिजवाने का आग्रह किया।
इसपर पुलिस को शक हुआ। उसके बाद पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के मोबाइल नम्बर की आईडी चैक की तो आईडी किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर पाई गई। संदेह होने पर चैकी कुल्हाल पर धारा 419 आई०पी०सी० के अंर्तगत मुकदमा दर्ज किया गया औरं आरोपी को उसके मोबाइल नंबर की लोकेशन के आधार पर देहरादून स्थित केनाल रोड से गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान पुलिस ने आरोपी से बरामद आई-10 कार नंबर- डीएल-10सीएच-5770 को सीज कर कब्जे में लिया।
आरोपी की तलाशी लेने पर उसके पास से 02 मोबाइल फोन बरामद हुए, जिनमें से एक फोन के माध्यम से आरोपी ने स्वंय को आई0पी0एस0 अधिकारी बताकर कॉल किया गया था।
आरोपी ने पूछताछ में अपना नाम तारिक अनवर पुत्र स्व० जयाउद्दीन निवासी ग्राम फेनारा, थाना फेनारा, जिला ईस्ट चंपारण, बिहार हाल पता मकान नंबर 209/16 शाहीनबाग, दिल्ली उम्र 39 वर्ष बताया। आरोनी ने पुलिस को बताया कि वह दिल्ली में गारमेंट व हैंडीक्राफ्ट का व्यवसाय करता है। उसने दून में केनाल रोड स्थित चालांग में अपनी पत्नी के नाम पर जमीन खरीदी है। उसे जमीन पर निर्माण कार्य हेतु हिमांचल से आने वाली धुली बजरी की जरूरत थी, परन्तु बार्डर पर पुलिस की बहुत ज्यादा सख्ती होने के कारण उसे कही से भी पोंटासाहिब हिमाचल की और से आने वाली धुली बजरी नहीं मिल पा रही थी। जिस पर उसने पुलिस विभाग का बड़ा अधिकारी बनकर अपना काम निकाले जाने की योजना बनाई तथा स्वंय को आईपीएस अधिकारी बताकर 05-06 डंफर अवैध प्रतिबंधित खनन सामग्री धुली बजरी सस्ते दाम पर भिजवाने हेतु चैकी प्रभारी कुल्हाल को अपने मोबाइल नंबर से कॉल कर दबाव डाला गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!