साइकल से दफ्तर पहुचते है आईएएस पुरुसोत्तम – सरकारी योजना आम जनता तक पहुंच रही हैं या नहीं पता करने के लिए

Share Now

देहरादून। अपने सेवा काल के दौरान एसडीएम पद पर रहे हो अथवा डीएम आईएएस पुरुसोत्तम ने अपनी एक अलग छवि प्रस्तुत की अब शासन मे सचिव के तौर पर भी वे भीड़ से अलग पहिचान बनाए हुए है । आमतौर पर आईएसएस अधिकारी जब नियमित निरीक्षण के लिए निकलते हैं, तो उनकी लाल बत्ती वाली गाड़ी के साथ पूरा काफिला चलता है। लेकिन उत्तराखंड शासन में तैनात सचिव डॉ वीवी आरसी पुरुषोत्तम थोड़ा हठ कर हैं। दरअसल IAS डॉ वीवी आरसी पुरुषोत्तम अपने दफ़्तर के लिए लाल बत्ती वाली गाड़ी नहीं, बल्कि अपनी साइकिल पर जाना पसंद करते हैं।

आईएएस अधिकारी डॉ वीवी आरसी पुरुषोत्तम की माने तो दो प्रकार की दुनिया है। एक ऑफिस में और दूसरी बाहर सड़कों पर। वह कहते हैं,हमारा मकसद यह देखना है कि हम जो सेवाएं प्रदान कर रहे हैं, वह आम जनता तक पहुंच रही हैं या नहीं। अगर हम कार से चलेंगे, तो यह समझ पाने में परेशानी होगी।

वह बताते हैं कि साइकिल पर यात्रा करने से उन्हें जीवन के वास्तविकताओं को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है और साथ ही इलाके की ज़मीनी हकीकत का भी पता चलता है। वह कहते हैं, “ऑल इंडिया सर्विस में होने के कारण, हमें नई-नई जगहों पर पोस्टिंग मिलती है। ऐसे में इन जगहों को समझने के लिए पैदल या साइकिल से चलना बेहद ज़रूरी है।

वर्ष 2008 से 2010 तक डॉक्टर पुरुषोत्तम जब उत्तरकाशी के डीएम रहे तो उन्होंने जनपद में आध्यात्म का बड़ा संदेश दिया। चूँकि उत्तरकाशी गंगा का उद्गम है। डीएम पुरुषोत्तम सप्ताह में एक दिन चिन्यालीसौड़ के दिकोली गाँव में स्थित तिरुपति बाला जी धाम में मेडिटेशन के लिए अवश्य जाते।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!