देहरादून : खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री ने किया नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का उद्घाटन

Share Now

देहरादून। नेशनल हैंडलूम एक्सपो का देहरादून में शुभारंभ हुआ। यह एक्सपो 5 जून तक चलेगा। यह रेस कोर्स प्ले ग्राउंड में आयोजित किया जा रहा है। इसका उद्घाटन बतौर मुख्य अतिथि मंत्री सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम खादी एवं ग्रामोद्योग चंदन राम दास द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक राजपुर रोड खजान दास ने की। विकास आयुक्त (हथकरघा), वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार की विपणन प्रोत्साहन योजनान्तर्गत देश के बुनकरों को विपणन सुविधा उपलब्ध कराने हेतु देश के विभिन्न प्रान्तों में नैशनल हैण्डलूम एक्सपो का आयोजन किया जाता है। नैशनल हैण्डलूम एक्सपो देहरादून का आयोजन उद्योग विभाग द्वारा उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्य विकास परिषद के माध्यम से प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी किया जा रहा है।
देश के सभी बुनकरों एवं देहरादून तथा उत्तराखण्ड राज्य के दर्शकों को इस एक्सपो की उत्सुकता से प्रतीक्षा रहती है। नैशनल हैण्डलूम एक्सपो में विभिन्न हथकरघा संगठन, हथकरघा सहकारी समितियां, निगम/फेडरेशन, सेल्फ हेल्प ग्रुप, राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर पुरस्कृत बुनकरों एवं हथकरघा कार्य में संलग्न व्यक्तिगत बुनकरों द्वारा प्रतिभाग किया जाता है। विगत वर्षों में इस एक्सपो का आयोजन परेड ग्राउण्ड देहरादून में आयोजित किया जाता रहा है, किन्तु इस वर्ष परेड ग्राउण्ड उपलब्ध न होने के कारण एक्सपो का आयोजन रेसकोर्स प्ले ग्राउण्ड, देहरादून में किया जा रहा है। इस एक्सपो का आयोजन वित्तीय वर्ष 2021-22 की स्वीकृति के सापेक्ष एवं इस हेतु बजट माह मार्च 2022 में प्राप्त होने तथा राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण इस अवधि में किया जा रहा है तथा चालू वित्तीय वर्ष 2022-23 में नैशनल हैण्डलूम एक्सपो के आयोजन के लक्ष्य के सापेक्ष इस एक्सपो का आयोजन इस वर्ष माह दिसम्बर, 2022 से माह जनवरी, 2023 के मध्य किया जाना प्रस्तावित है।
इस एक्सपो में उत्तराखण्ड राज्य के अतिरिक्त विभिन्न राज्यों यथा जम्मू-कश्मीर, नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगना एवं कर्नाटक आदि राज्यों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। इस वर्ष नैशनल हैण्डलूम एक्सपो में लगभग 80 स्टॉल स्थापित किये गये है, जिसके अन्तर्गत विभिन्न राज्यों के विविध एवं आकर्षक हथकरघा उत्पादों की बड़ी रेन्ज बिक्री हेतु उपलब्ध होगी।
एक्सपो में उत्तर प्रदेश की बनारसी साड़ियां, दरी तथा कालीन राजस्थान की जयपुरी चादरें, बिहार की टसर एवं भागलपुरी ड्रेस मैटिरियल एवं साडियां, कर्नाटक की कांजीवरम सिल्क साड़ियां, पश्चिमी बंगाल की जमदानी बालचौरी साड़ियां, जम्मू कश्मीर के हथकरघा उत्पाद, आन्ध्र प्रदेश की सिल्क साड़ियां, मध्य प्रदेश की चन्देरी एवं महेश्वरी साड़ियां, बेडशीट/ बेड कवर एवं उत्तराखण्ड की कॉटन बेडशीट/बेड कवर, स्कार्फ, मफलर, खादी ड्रेस मैटिरियल, ट्वीड आदि हथकरघा उत्पाद विक्रय हेतु उपलब्ध हैं।
विकास आयुक्त (हथकरघा) भारत सरकार के बुनकर सेवा केन्द्र, चमोली द्वारा देश के विभिन्न प्रान्तों के विशिष्ट हथकरघा उत्पाद का प्रदर्शन थीम पैवेलियन में किया गया है। हथकरघे पर कपड़ा उत्पादन एवं विभिन्न हथकरघा डिजाइनों का सजीव प्रदर्शन भी किया गया है। हथकरघा उद्योग के सम्बन्ध में इस पैवेलियन के माध्यम से आने वाले दर्शकों, छात्रों एवं अन्य उत्सुक लोगों को जानकारियां उपलब्ध करायी जायेंगी। हिमाद्रि मण्डप उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास परिषद, जो राज्य में हथकरघा एवं हस्तशिल्प उत्पादों के समृद्ध विकास के लिये गठित शीर्ष संस्था , द्वारा राज्य के विशिष्ट उत्पादों को हिमाद्रि ब्राण्ड नेम  के अन्तर्गत प्रोत्साहित किया जा रहा है। नैशनल हैण्डलूम एक्सपो में हिमाद्रि मण्डप में हथकरघा उत्पादों के साथ-साथ हस्तशिल्पियों को भी विपणन के लिये स्थान उपलब्ध कराया जा रहा है। हिमाद्रि मण्डप में एकीकृत हस्तशिल्प विकास एवं प्रोत्साहन योजनान्तर्गत प्रतिष्ठित डिजाइन संस्थाओं के डिजाइनरों के माध्यम से राज्य के 15 विकासखण्डों में विकसित किये गये नवीन उत्पादों को भी प्रदर्शन/विपणन हेतु प्रस्तुत किया जा रहा है। विकास आयुक्त (हथकरघा), वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार के बुनकर सेवा केन्द्र, चमोली द्वारा थीम पैवेलियन स्थापित कर देश के विभिन्न प्रान्तों के विशिष्ट हथकरघा उत्पाद का प्रदर्शन किया जायेगा। इस थीम पैवेलियन पर हथकरघे पर कपड़े की बुनाई एवं विभन्न हथकरघा के उत्कृष्ठ डिजाइनरों का सजीव प्रदर्शन भी किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!