मोहनिया ने किया युवाओं से संवाद, कहा अब वोट देने से पहले जनता ले नेताजी का रिपेार्ट कार्ड

Share Now

विकासनगर। विकासनगर पहुंचे आप प्रभारी दिनेश मोहनिया ने युवा संवाद में भाग लिया। उन्होंने वहां मौजूद सैकड़ों युवाओं से संवाद करते हुए कहा,की संवाद हमेशा दो तरफा होना चाहिए। उन्होंने संवाद से पहले कई युवाओं को अपने सवाल पूछने के लिए निमंत्रण दिया। जिसमें कई युवाओं ने उनसे अलग अलग सवाल पूछे। इसके बाद उन्होंने अपना संबोधन शुरु किया। उन्होंने युवाओं से संवाद के दौरान, कहा कि उत्तराखंड में  कोई भी दल ऐसा नहीं कि जो यह बता सके कि वोट क्यों देना है। नेता जी वोट लेने आते हैं और उसके बाद 5 साल गायब हो जाते हैं। नेता अपने झूठ के दम पर जनता से वोट मांगते हैं और दोबारा गायब हो जाता है । बीते 60 साल से यही होता आ रहा है। लेकिन अब यह सिस्टम बदलना ही होगा। अब काम के आधार पर वोट मांगने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि फैसला जनता का होता है कि अगर फैसला सही होगा तो नतीजा ठीक होगा,और फैसला गलत होगा तो नतीजे गलत ही होंगे। आपका वोट पूरे पांच साल के  लिए असरदार रहता है। अब समय आ गया है कि अपने विधायक से पूछें कि आपने 5 साल में क्या किया।
उन्होंने कहा कि आज उत्तराखंड में स्कूल,अस्पताल सबके बुरे हाल हैं। लेकिन अगर हालात अगर आज भी यही हैं तो आपके विधायक ने 5 साल किया क्या। जनता को अब जवाब मांगना ही होगा। उन्होंने कहा कि अब जो  भी  नेता आपके पास वोट मांगने आए, उससे 5 साल का हिसाब जरुर लीजिए। अगर सवाल आप पार्टी का हो तो आप पार्टी यहां पहली बार चुनाव लडने जा रही है लेकिन आप अपने दिल्ली के रिश्तेदारो से पूछ सकत हैं कि आप पार्टी ने दिल्ली में कोई काम किया या नहीं। अगर आपके रिश्तेदार कहें कि, आप पार्टी वाले काम करते हैं तो ही आप पार्टी को वोट देना और अगर वो कहें कि ये काम नहीं करते तो आप पार्टी को वोट मत देना। उन्होंने कहा कि जनता जब एक पार्टी से दुखी होती है तो दूसरी पार्टी को वोट दे देती है लेकिन अफसोस कि बदलाव आजतक नहीं हो पाया। स्कूल, स्वास्थ, रोजगार सबका हाल एक जैसा है।
उन्होंने कहा कि  उत्तराखंड की राजनीति में दल बदल होना आम बात हो गई है। हरक सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि, हरक सिंह रावत पहले बीजेपी मे गए और अब एक बार फिर वो वापस कांग्रेस में जाने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने 5 साल सत्ता की मलाई खाई और अब उन्हे एक बार फिर कांग्रेस की याद आ गई है। यह यहां के नेताओं  का यही चरित्र है। उन्हेांने कहा कि अब व्यवस्था बदलनी ही चाहिए। अब काम की बात होनी चाहिए। आज अगर कोई विकासनगर में बीमार हो गया तो उसे देहरादून ले जाया जा सकता है। लेकिन अगर किसी की तबीयत पहाडों में खराब हो जाए तो उसको वहां इलाज नहीं मिल पाता। उन्होंने कहा कि आदमी थक हारकर इलाज के लिए दिल्ली जाता है । लेकिन जनता कब तक दिल्ली जाती रहेगी। लेकिन अगर आप पार्टी की सरकार बनती है तो किसी को दिल्ली जाने की जरुरत नहीं पडेगी बल्कि उन्हें दिल्ली जैसे अस्पताल यहीं उपलब्ध हो पाएंगे।
उन्होंने  कहा कि, बडे दुर्भाग्य की बात है कि हमारे नेता आज भी जातिवाद के नाम पर लोगों को बांटने का काम करते हैं। लेकिन आप पार्टी सिर्फ काम की बात और राजनीति करती है। हम जो कहते हैं वो सिर्फ घोषणा नहीं बल्कि गारंटी होती है। उन्होंने कहा कि अरविंद जी ने 4 गारंटी उत्तराखंड की जनता को दी है वो आप की सरकार बनते ही , सभी घोषणाएं पूरी होंगी। उन्होंने  कहा कि नेताओं को बिजली मुफ्त देने के लिए सरकार के पास पूरे पैसे हैं लेकिन जब सवाल जनता का आता है तो सरकार बजट का रोना रोती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के एक नेता बिजली गारंटी के खिलाफ कोर्ट चले गए लेकिन उनकी याचिका ही कोर्ट ने स्वीकार नही की और कहा, आप पार्टी अगर मुफ्त दे सकती है तो इसमे हर्ज क्या है। उन्होंने कहा, आज भी  57 हजार पद खाली पडे हैं और हमारी सरकार सत्ता में आते ही 1 लाख युवाओ को 6 महीने के भीतर नौकरियां देगी। और जब तक नौकरी नहीं  मिलती तब तक 5 हजार रुपये बेरोजगारी भत्ता देंगे। इसके अलावा महिला गारंटी में महिलाओ को अलग से 1 हजार हर महीने देंगे और साथ ही साथ उत्तराखंड के लोगों को मुफ्त  तीर्थ स्थलों के दर्शन भी करवाएंगे।इसके साथ ही उत्तराखंड को आध्यात्मिक राजधानी बनाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!