पर्यटन के नाम पर बढ़ती अपसंस्कृति पर आक्रोश, सीएम को भेजा ज्ञापन

Share Now

देहरादून। राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पर्यटन के नाम पर बढ रही अपसंस्कृति पर रोक लगाने के लिए जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी के संयोजक राजेंद्र पंत ने बताया कि उत्तराखंड में पर्यटन के नाम पर अपसंस्कृति को बढ़ावा दिया जा रहा है, उसकी जिम्मेदार सीधे तौर पर सरकार ही है। उदाहरण के तौर पर मसूरी जॉर्ज एवरेस्ट में स्थानीय लोगों से मनमाना शुल्क वसूला जा रहा है यहां तक की प्रति व्यक्ति ₹200 एंट्री फीस ली जा रही है, जो बेहद आपत्तिजनक है। इसका संचालन कर रही निजी कंपनी द्वारा हिमालय दर्शन हेली सेवा भी बंद है। इसके अलावा पार्किंग भी बेहद महंगी है।
राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी के संस्थापक सदस्य संजय डोभाल ने कहा कि ऋषिकेश योग नगरी धर्मनगरी में एम्स के नजदीक लिक्वर मार्ट तथा बार का संचालन किया जा रहा है। यह बेहद आपत्तिजनक है। यदि इस तरह के आपत्तिजनक संचालन रोके नहीं जाएंगे तो राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी उग्र आंदोलन को बाध्य होगी।
राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी के विनोद कोठियाल ने कहा कि टिहरी भागीरथी और भिलंगना के संगम पर बनी झील के बोट पर नॉनवेज पकवान बनाए जा रहे हैं और मल मूत्र को भी गंगा भी विसर्जित किया जा रहा है। कई बार आपत्ति के बावजूद इस पर रोक नहीं लगी है। जबकि आधुनिक रेलवे की तर्ज पर इसका उचित निस्तारण किया जा सकता है। शैला ममगांईं ने प्रदेश में बढ़ रही ड्रग्स पार्टी, रेव पार्टी पर चिंता व्यक्त की और कहा कि प्रदेश में ड्रग्स पार्टी, रेव पार्टी और क्लब तथा स्पा के माध्यम से आपराधिक घटनाओं में भी बेहद तेजी से बढ़ोतरी हुई है। सुरेंद्र सिंह चैहान ने मांग की है कि ज्ञापन में बताई गई समस्त शिकायतों का संज्ञान लेकर तत्काल इन पर रोक लगाने की कार्रवाई की जाए, अन्यथा इस अपसंस्कृति पर रोक लगाने के लिए राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी को आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ेगा। इस दौरान राजेंद्र पन्त, संजय डोभाल, विनोद कोठियाल, शैला ममगाई, सुरेंद्र सिंह चैहान मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!