प्रयागराज – 5 लोगों की सामूहिक हत्या के बाद कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

Share Now

 

यूपी के प्रयागराज जिले में कानून व्यवस्था पूरी तरह से बदतर परिस्थिति में आ चुकी है। अपराध थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। लगातार हो रही हत्या की वारदातों के बाद पुलिस प्रशासन भी सवालिया घेरे में खड़ा दिखाई दे रहा है। हत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है अभी बीते 16 अप्रैल 2022 को एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि अब एक बार फिर से खेवराजपुर में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या से इलाके में हड़कंप मच गया। अधिकतर वारदात गंगापार इलाके में ही हो रही हैं। एक 5 साल की बच्ची पर भी वार किया है। उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। हत्यारों ने वारदात को अंजाम देने के बाद शव को जलाने के लिए घर में आग लगा दी। घटनास्थल पर पुलिस, फॉरेंसिक टीम मौजूद है। 

शनिवार सुबह थरवई थाना क्षेत्र अंतर्गत खेवराजपुर में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है।  एसपी गंगा पार क्षेत्राधिकारी समेत भारी संख्या में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।  साथ ही घटना की सूचना जिलाधिकारी संजय खत्री और एसएसपी प्रयागराज अजय कुमार को भी दे दी गई है। जिलाधिकारी प्रयागराज संजय खत्री व एसएसपी प्रयागराज अजय कुमार मौके पर पहुंचे हैं। वहीं दूसरी ओर घटना की जांच के लिए स्निफर डॉग और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम भी मौके पर पहुंच कर जांच में जुट गई है।  ग्रामीणों से मिली सूचना के मुताबिक, सभी मृतक घर के बरामदे में सो रहे थे। वहीं घर के भीतर से धुंआ उठता भी पाया गया है। जिसे पुलिस और फायर ब्रिगेड ने बुझा दिया। हालांकि अभी घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है।

एसपी गंगा पार क्षेत्राधिकारी समेत भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। साथ ही घटना की सूचना जिलाधिकारी संजय खत्री और एसएसपी प्रयागराज अजय कुमार को भी दे दी गई है। घटना की जांच के लिए स्निफर डॉग और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम भी मौके पर पहुंच कर जांच में जुट गई है। 

प्रयागराज में 16 अप्रैल की सुबह एक ही परिवार के 5 लोगों के शव घर में मिले थे। घटना नवाबगंज थाना क्षेत्र के खागलपुर गांव की थी। पत्नी और 3 बेटियों को धारदार हथियार से मौत के घाट उतारा गया। वहीं, पति का शव आंगन के जाल से फांसी पर लटका मिला। मृतकों की शिनाख्त पति राहुल तिवारी (42), पत्नी प्रीति (38) और तीन बेटी माही, पीहू और पोहू के रूप में हुई थी। इससे पहले नवाबगंज थाना क्षेत्र में कुछ दिन पहले सामूहिक हत्याकांड की घटना हुई थी। एक ही परिवार के 5 सदस्‍यों की हत्‍या धारदार हथियार से कर दी गई थी। उनमें पति-पत्‍नी और उनकी तीन बेटियां थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!