निजी एलोपैथिक चिकित्सकों ने बंद रखी ओपीडी

Share Now

देहरादून। केंद्र सरकार द्वारा आयुर्वेद चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति देने के विरोध में निजी एलोपैथिक चिकित्सकों ने आज ओपीडी बंद रखीं। वहीं आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने इस विरोध को गलत बताया है।
केंद्र सरकार द्वारा आयुर्वेदिक चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति दी गई है। जिसके बाद से आयुर्वेदिक चिकित्सकों में तो खुशी का माहौल है लेकिन एलोपैथी चिकित्सकों ने इस अनुमति को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है। जिसके चलते पिछले दिनों से वे आयुर्वेद चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति दिए जाने का विरोध कर रहे हैं। इसी विरोध निजी एलोपैथिक चिकित्सकों ने आज ओपीडी बंद रखी। इस दौरान सुबह से लेकर शाम छह बजे तक चिकित्सकों ने मरीजों को नहीं देखा। एलोपैथिक चिकित्सकों का कहना है कि केंद्र सरकार ने जिस तरह से बिना तैयारी के देश में इस मिक्सपैथी को बढ़ावा दिया है वह उचित नहीं है। आधुनिक चिकित्सका में जिन तकनीकियों का इस्तेमाल किया जाता है उनको विकसित करने में काफी लंबा समय लगा है। यदि इसमें शॉटकट अपनाये गये तो नीट जैसी परीक्षाओं का क्या औचित्य रह जाएगा। आज निजी चिकित्सालयों में ओपीडी बंद रहने की चेतावनी पहले से दिए जाने के कारण मरीजों ने चिकित्सालयों का कम ही रूख करा। हालांकि कोविड-19 का दौर होने के कारण वर्तमान समय में मरीज सरकारी चिकित्सालय की बजाय निजी चिकित्सालयों में जाना ही बेहतर समझ रहे हैं। एक दिन ओपीडी बंद रखने से निजी चिकित्सालयों को काफी नुकसान भी उठाना पड़ा वहीं इन दिनों सरकारी चिकित्सालयों की बजाय निजी चिकित्सालयों में जाने वाले मरीजों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!