रेलवे ने एक हजार से ज्यादा लोगों को नोटिस जारी कर जमीन 15 दिन में खाली करने को कहा

Share Now

हल्द्वानी। हल्द्वानी रेलवे स्टेशन से लगी जमीन को अपना बताते हुए रेलवे प्रशासन वहां बसे लोगों को हटाने की प्रक्रिया में जुटा हुआ है। इसी प्रक्रिया के तहत रेलवे ने सोमवार को फिर से करीब एक हजार से ज्यादा लोगों के घरों पर नोटिस चस्पा किए हैं। 15 दिन के भीतर जमीन खाली करने का अल्टीमेटम दिया है। सोमवार सुबह सहायक मंडल इंजीनियर काशीपुर भूपेन्द्र सिंह धर्मशक्तू के नेतृत्व में रेलवे की टीम वनभूलपुरा पहुंची। इस दौरान टीम ने इंदिरा नगर ठोकर में एक बोर्ड पर 1020 नोटिस चस्पा किए। ये नोटिस वार्ड नंबर 21 और 24 (इंदिरा नगर, गफ्फूर बस्ती, लाइन नंबर 17, चोरगलिया रोड आदि ) के 1020 घरों के लिए थे। नोटिस में रेलवे की भूमि में अतिक्रमण की बात कहते हुए 1020 घरों को 15 दिन में रेलवे की भूमि से हटाने को कहा गया है। गौरतलब है कि पूर्वोत्तर रेलवे इज्जतनगर मंडल ने हल्द्वानी रेलवे स्टेशन के आसपास करीब साढ़े चार हजार अतिक्रमणकारियों को चिह्नित किया हुआ है। राज्य संपदा अधिकारी इज्जतनगर मंडल में इस मामले की सुनवाई हो रही है। इसी साल 8 जनवरी को राज्य संपदा अधिकारी ने 1581, फिर 1 अप्रैल को 500 से ज्यादा लोगों को बेदखली के नोटिस जारी किए। इसके बाद रेलवे के अधिकारियों ने हल्द्वानी रेलवे स्टेशन पर एक बोर्ड लगाकर रेलवे की भूमि में अतिक्रमण की बात कहते हुए नोटिस चस्पा किए थे। इसके बाद पूरा मामला हाईकोर्ट में पहुंच गया था। इस दौरान सेक्शन इंजीनियर केएन पांडे, नायब तहसीलदार हरीश चन्द्र बुद्धिस्ट, आरपीएफ इंस्पेक्टर रणदीप कुमार, जीआरपी सब इंस्पेक्टर नरेश कोहली, सर्वेयर चंदन सिजवाली, एसओ वनभूलपुरा प्रमोद पाठक आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!