BREAKING NEWS

कोरोना से बचाव – मास्क के साथ दो गज दुरी है जरुरी

ऋषिकेश : शमसान घाट में लकड़ी की व्यवस्था को मेयर ने वन महकमे को दिए निर्देश

129

मेरु रैबार की  खबर का सज्ञान लेते हुए ऋषिकेश मेयर  अनीता ममगाई ने वन विभाग के अधिकारी को मौके पर बुलाकर समस्या का निस्तारण करने के निर्देश दिए | गौरतलब  है कि कोरोना के कारण मरने वाले लोगो के शव के साथ आये सामान को उनके द्वारा जाने अनजाने में  सात मोड़ के पास जंगल में खुले रूप में फेंका जा रहा था जिससे संक्रमण का खतरा पैदा हो गया था इसके साथ ही समसान घाट में लकडियो कि बढ़ी हुई डिमांड को पूरा करने के लिए भी वन महकमे को निर्देश दिए है |

अमित कण्डियाल, ऋषिकेश

वैश्विक महामारी के बीच दाह संस्कार के लिए लकड़ियों की पूर्ति करने के लिए मेयर ने वन विभाग को दिए निर्देश

देश इस समय कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में है और संक्रमण के मामले भी बेहद तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके साथ ही मौत का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। इस मामले में तीर्थनगरी ऋषिकेश भी अछूती नही रही हैं , हांलाकि नगरनिगम एवं स्थानीय प्रशासन तमाम जद्दोजहद में जुटा हुआ है। 

इन सबके बीच कोरोना से अकाल मौत का ग्रास बने मृतकों के परिवारों द्वारा ऋषिकेश – देहरादून मार्ग स्थित सात  मोड़ के समीप जंगल किनारे फेंके जा रहे। मृतकों के शवों के सामान एवं मुक्तिधाम में लकड़ियों की आ रही किल्लत की समस्या का संज्ञान लेते हुए महापौर ने आज दोपहर वन विभाग रेंजर महेंद्र सिंह रावत से  अपने कार्यालय में बैठककर वार्तालाप की एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए। महापौर ने वन विभाग द्वारा जंगलों में गस्त तेज करने का सुझाव देते हुए कहा कि जंगलों में कोरोना संक्रमित मृतकों के सामान फेंके जाने से संक्रमण का खतरा और बड़ सकता है। जिसे रोके जाने के लिए गस्त का बड़ाया जाना बेहद आवश्यक है। उन्होंने जंगल में निरीक्षण के उपरांत खींची गई तस्वीरे दिखाते हुए उन्हें बताया कि इन्हें गहरे गड्ढे में डिस्पोज कराया जाना आवश्यक है तभी संक्रमण का खतरा टल सकेगा।

मेयर ने वन विभाग के रेंजर को अवगत कराया कि नगर क्षेत्र में अनेकों लोगों की कोरोनावायरस से हो रही मौतों के चलते  मृतकों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। साथ ही इसकी वजह से लकड़ियों की किल्लत महसूस की जा रही है। मुक्तिधाम से मिली जानकारी के अनुसार जो एक ट्रक लकड़ी प्रति माह शवों के दाह संस्कार में लगती थी। अब वह रोजाना लग रही है। जिसकी वजह से लकड़ियों की भारी दिक्कत महसूस हो रही है। जिसके लिए वन निगम की ओर से लकड़ियों का प्रबंध कराया जाना बेहद आवश्यक है। महापौर ने बताया कि उनके सुझाव पर रेंजर द्वारा तत्काल आवश्यक कारवाई के जरिए समस्या के निस्तारण के आदेश दे दिए गये हैं।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!