आश्रय गृह में किशोरी ने लगाई फांसी

Share Now

हरिद्वार। सिडकुल थाना क्षेत्र में स्थित आश्रय गृह में एक किशोरी ने फांसी लगा आत्महत्या कर ली। किशोरी ने मौत को गले क्यों लगाया, उसका पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।
रावली महदूद सिडकुल स्थित आश्रय गृह में बुधवार दोपहर उस समय हड़कंप मच गया, जब आश्रय गृह की एक कमरे में एक किशोरी का शव फंदे से झूलता हुआ मिला। सिडकुल पुलिस के अनुसार, बहादराबाद क्षेत्र के बोंगला गांव की एक किशोरी 22 मई को संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गई थी। उसके पिता ने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। जिसके बाद पुलिस ने उसे उत्तर प्रदेश के सहारनपुर के देवबंद से बरामद किया था। कोर्ट में पेश करने के बाद उसे मेडिकल होने तक कोर्ट ने रावली महदूद क्षेत्र में स्थित आश्रय गृह भेज दिया था। जिसका शव बुधवार को संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे से लटका मिला।आश्रय गृह की ओर से तत्काल मामले की जानकारी सिडकुल थाना पुलिस और आला अधिकारियों को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। आश्रय गृह प्रबंधन ने मृतका के परिजनों को भी बुला लिया गया है. इस पूरे मामले से आश्रय गृह प्रबंधन की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं. एसडीएम पूरण सिंह राणा और सीओ महिला सुरक्षा रीना राठौर के अलावा इंस्पेक्टर सिडकुल प्रमोद उनियाल व बहादराबाद थानाध्यक्ष नितेश शर्मा मौके पर जानकारी जुटा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!