टिहरी : डीएम और एसडीएम् तो वहा चाय पीने आते है, तो शिकायत किधर करे : देवेन्द्र नौडियाल

Share Now

देश कि पानी और उर्जा कि जरुरत को पूरा करने वाले टिहरी डैम से स्थानीय लोगो को पर्यटन कि उम्मीद थी जो अस्पस्ट पर्यटन नीति के अभाव दम तोडती नजर आ रही है | टिहरी झील में नौकायन और होटल पर्यटक स्थल को लेकर 30 साल की लीज लेकर बैठी कंपनी स्थानीय लोगो के साथ सीधे मुह तक बात करने को तैयार नहीं है |

शहर कांग्रेस कमेटी नई टिहरी के द्वारा कोटी कॉलोनी स्थित स्थानीय बेरोजगारों के साथ ‘ली-रॉय कंपनी’ के द्वारा की जा रही बदतमीजी एवं झील में अवैध खनन तथा बिना अनुमति के नाव चलाने को लेकर कंपनी तथा सरकार का पुतला दहन किया गया।वक्ताओं ने भाजपा सरकार तथा ली-रॉय कंपनी के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष देवेंद्र नौडियाल(मोनू) ने कहा की भाजपा सरकार केंद्र से लेकर राज्य तक बड़े-बड़े उद्योगपतियों की गोद में बैठी हुई है और इन्हें जमीन से जुड़े  लोगों से कोई लेना देना नहीं है। ली-रॉय जैसी बड़ी कंपनी को स्थानीय बेरोजगारों का हक मारकर, कोटी कॉलोनी स्थित पर्यटन के होटल एवं फ्लोटिंग हट्स देना और वह भी 30 साल के लिए लीज करना, यह दर्शाता है की भाजपा सरकार को आम जनता एवम बेरोजगार लोगों से कोई लेना देना नहीं है और उन्हें केवल उद्योगपतियों की चिंता है। उन्होंने कहा कि किसी भी समस्या को लेकर जब स्थानीय लोग कम्पनी के पास जाते है तो उन्हें यह कह कर धमकाया जाता है कि डीएम और SDM तो उनके पास चाय पीने आते है |

प्रदेश सचिव कुलदीप पवार ने कहा कि स्थानीय बेरोजगारों को तो वोटिंग के लाइसेंस के लिए मना किया जा रहा है और लीरॉय जैसी कंपनी बिना अनुमति के झील में नाव चला रही है और बोट संचालक एवं स्थानीय युवाओं के साथ तानाशाही जैसा रवैया अपना रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!