BREAKING NEWS

टिहरी : पार्क की जमीन पर कब्जे को लेकर बेनकाब – नेता या अभिनेता ?

432

लोकतंत्र के नाम पर अपने स्वार्थ के हिसाब से सिस्टम को घुमाने वालो में सिर्फ नेता ही नहीं अभिनेता भी पीछे नहीं है | ये आप और हमारे बीच रहने वाले वो अभिनेता है जो परदे के पीछे लोकतंत्र कि हत्या करते है और परदे के सामने उसका मजाक बनाते है | मामला टिहरी जिला मुख्यालय का है जहा नगर पालिका द्वरा तीन लाख रु खर्च करने के बाद भारत रत्न प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी बाजपेयी के नाम पर निर्माणाधीन पार्क को विभागीय अधिकारियो से रुकवा दिया गया | फिल्म के दुसरे भाग में कुछ भू माफियाओ के नाम सामने आ रहे है जिनकी नजर इस जमीन पर है और वे किसी भी सूरत में बखेड़ा खड़ा कर अपने मन की  बात को आम जनता की जुबान से भले ही न कहलवा सके पर उनकी मौन स्वीकृति पर ही जबरन अपना ठप्पा लगा लेने का भ्रम पाले बैठे है |

भारत रत्न प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी बाजपेयी के  नाम पर  निर्माणधीन पार्क को भू माफियाओ के साथ मिलकर पुनर्वास बिभाग के अधिशाषी   अभियंता ने रुकवा दिया |

 मामला नई टिहरी के कान्वेंट स्कूल के समीप ग्रीन बेल्ट का है | जहाँ पर 30 से 40 हरे भरे पेड़ लगे हुए है इस जगह पर सी ब्लॉक के लोगो के द्वारा भारत रत्न प्रधानमंत्री स्व श्री अटल बिहारी बाजपेयी के नाम पर नगर पालिका नई टिहरी से पार्क बनाने की मांग की गई थी, जिस पर नगर पालिका द्वारा बोर्ड के बैठक में पार्क बनाने का प्रस्ताव भी पास किया गया,  साथ ही इस पार्क को बनाने के लिये खुले आम  समाचार पत्रों में टेंडर निकाले गए और पार्क का काम भी शरू कर दिया गया जिसमें अब तक 3 लाख से ज्यादा निर्माण पर खर्च भी हो गया है |

जैसे ही पार्क का काम अंतिम चरणों मे था तो भू माफियाओ के दवाव में आकर  पुनर्वास बिभाग के अधिशासी अभियंता  अपने  कर्मचारियों के साथ आकर पार्क का काम रुकवा दिया

सबसे बड़ा सवाल यह है कि  भारतीय जनता पार्टी में शीर्ष स्थान के राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय में प्रसिद्ध भारत रत्न प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी बाजपेई के नाम पार्क बनाने में रुकावट डालने वाले लोगो के खिलाफ कोई भी भाजपा के कार्यकर्ता व नेता आगे नही आये,

इससे साफ दिखता है कि कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता व नेता किस तरह से भारत रत्न प्रधानमंत्री

 स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेई को अपना आदर्श मानते है,

मोहल्ले के लोगो का कहना है कि अगर इस जगह को पुनर्वास बिभाग द्वारा किसी को भी आवंटन की गई तो शासन प्रशासन के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा यह पर प्रधानमंत्री स्व श्री अटल बिहारी बाजपेयी के नाम से ही पार्क बनाया जाना चाहिए,

वही भाजपा नेता खेम सिंह का कहना है कि जहां पर अटल जी का पार्क बन रहा है वह सबसे सही जगह है और वह पर हरे भरे पेड़ भी लगे है और जो भी अधिकारी या भू माफियाओ के द्वारा पार्क का काम रुकवा कर पुनर्वास बिभाग से आवंटन करने की साजिश कर रहे हो उनके खिलाफ मुख्यमंत्री से लेकर भाजपा के उच्च पदाधिकारियों तक इसकी शिकायत की जाएगी,

वही कोंग्रेस के शहर अध्यक्ष मोनू ने कहा कि प्रधानमंत्री स्व श्री अटल बिहारी बाजपेयी सबके आदर्श रहे है ओर आज उनके नाम से नई टिहरी में पार्क बनवाया जा रहा है तो उसमें भाजपा के  विधायक व कुछ कार्याकर्ता  पुनर्वास बिभाग के अधिकारियों पर दवाव बनाकर दूसरे की पात्रता खरीदकर पार्क को आवंटन करवाने की कोशिश कर रहे है जिस कारण पुनर्वास बिभाग के अधिशासी अभियंता ने काम रुकवाया है,जब भाजपा के लोग जमीन खरीद फरोख्त करके उसमें फ्लेट बनाने के धंधे में लिप्त है,तो आम आदमी कैसे जियेगा,

वही नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी राजेन्द्र सजवाण का कहना है कि नगर पालिका नई टिहरी के द्वारा    मोहल्लों जनता के मांग पर पार्क बनाने की मांग की गई और बोर्ड की बैठक में पास करवाकर  30 से 40 हरे भरे पेड़ के बीच ग्रीन बेल्ट पर पार्क का निर्माण किया गया जैसे ही कार्य पूरा होने वाला था तो पुनर्वास बिभाग के अधिशाषी अभियंता द्वारा अटल जी का पार्क का निर्माण कार्य रुकवा दिया गया है 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!