पिंजरे में कैद गुलदार को जिन्दा जलाया

Share Now

पौड़ी। जिले के सपलोड़ी में पिंजरे में फंसे गुलदार को आक्रोशित ग्रामीणों ने जला दिया। आरोप है कि मौके पर मौजूद वन महकमे की टीम के काफी समझाने के बाद भी ग्रामीण नहीं माने। सपलोड़ी में बीती 15 मई को जंगल में काफल लेने गई एक महिला को गुलदार ने मार दिया था। इसके बाद यहां दो पिंजरे लगाएं थे। सोमवार रात को गुलदार ने सपलोड़ी गांव के समीप कुलमोरी गांव में एक महिला पर हमला कर घायल कर दिया था। गुलदार सोमवार की रात को ही सपलोड़ी गांव में लगाए गए पिंजरे में कैद हो गया था।
वन विभाग की ओर से फिलहाल इस मामले में किसी तरह की कानूनी कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई। हालांकि डीफओ गढ़वाल मुकेश कुमार ने बताया कि पीएम रिपोर्ट के बाद एफआईआर दर्ज की जाएगी। सीसीएफ गढ़वाल सुशांत कुमार पटनायक ने भी घटना पर संज्ञान लिया है। पौड़ी के वन क्षेत्राधिकारी अनिल भट्ट ने बताया कि मंगलवार को सुबह जब गुलदार के पिंजरे में कैद होने की सूचना मिली तो पौड़ी से एसडीओ सहित पूरी टीम मौके के लिए रवाना हो गई थी। रेंज अफसर के मुताबिक पिंजरे में कैद गुलदार को स्थानीय ग्रामीणों द्वारा रेस्क्यू कर वापस नहीं ले जाने दिया गया। गुलदार के पिंजरे में कैद होने की सूचना पर वहां आस-पास के गांवों से भी ग्रामीण पहुंचे हुए थे। आक्रोशित भीड़ ने पिंजरे के ऊपर घास आदि डालकर आग लगा दी। घटना को लेकर उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट किया जा रहा है। वहीं गुलदार को जलाकर मारने की घटना से वन महकमे में भी हड़कंप मचा हुआ है। डीएफओ गढ़वाल मुकेश कुमार ने बताया है कि विभाग पीएम रिपोर्ट के बाद मामले में एफआईआर दर्ज करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!