छात्रवृत्ति घोटाले मे शिक्षक समेत दो आरोपी गिरफ्तार

Share Now

रुद्रपुर। समाज कल्याण विभाग की दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले के मामले में नानकमत्ता पुलिस ने यूपी के सरकारी प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक समेत दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों पर 13 छात्रों के नाम पर छात्रवृत्ति की रकम हड़पने का आरोप है। मामले में समाज कल्याण विभाग के कुछ कर्मचारियों पर भी जल्द कार्रवाई के आसार हैं।
नानकमत्ता एसओ कमलेश भट्ट ने शनिवार को मामले की जानकारी दी। बताया कि दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच के लिये गठित की गयी एसआईटी ने नानकमत्ता क्षेत्र के मामलों की जांच की थी। इसके बाद एसआईटी के निरीक्षक एनएन पंत ने थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। बताया था कि जांच में गजरौला के एक शिक्षण संस्थान में नानकमत्ता के दस, सितारगंज के दो और खटीमा के एक छात्र के फर्जी दस्तावेज लगाकर छात्रवृत्ति की रकम हड़पे जाने की पुष्टि हुयी है। बताया गया कि इन छात्रों के दस्तावेज दलाल मोहन सिंह के जरिये संस्थानों को पहुंचाये गये थे। यह संस्थान अब बंद हो चुका है। एसओ भट्ट ने बताया कि मामले में एसआई अवनीश कुमार ने आगे जांच की। इसमें अमरोहा निवासी और गजरौला के संस्थान में कुछ समय पहले तक कार्यरत रहे विवेक कुमार और नानकमत्ता के खैराना आशीष सिंह की मिलीभगत की पुष्टि हुयी। एसओ कमलेश भट्ट ने बताया कि शनिवार को विवेक और आशीष को गिरफ्तार कर लिया। बताया कि विवेक वर्तमान में यूपी के अमरोहा स्थित मडिया के प्राथमिक विद्यालय जाटवोंवाली में सहायक अध्यापक पद पर तैनात है। बताया कि दोनों से पूछताछ जारी है। दलाल मोहन सिंह की तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि मामले में पुलिस शीघ्र समाज कल्याण विभाग के संदिग्ध कर्मचारी पर भी शिकंजा कस सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!