क्षतिग्रस्त बड़ासी पुल को लेकर यूकेडी का प्रदर्शन, जांच की मांग

Share Now

देहरादून। बड़ासी-थानो मोटर मार्ग पर ध्वस्त पुल की जांच की मांग को लेकर उत्तराखंड क्रांति दल ने घटना स्थल पर जाकर जमकर नारे बाजे की। उत्तराखंड क्रांति दल ने इस पुल की टेंडरिंग से लेकर निर्माण पर सवाल खड़े करते हुए अधिकारियों ठेकेदारों और सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए जांच की मांग की। उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय मीडिया प्रभारी शिवप्रसाद सेमवाल ने आरोप लगाया कि इस पुल के टेंडर से लेकर निर्माण तक में भारी धांधली हुई है। उन्होंने पुल निर्माण से संबंधित अधिकारियों की डिग्री पर भी सवाल खड़े किए। उत्तराखंड क्रांति दल महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष सुलोचना ईस्टवाल ने पुल के निर्माण में दोषी पाए जाने वाले अफसरों को दंडित करने की मांग की।
उत्तराखंड क्रांति दल की वरिष्ठ नेता कैप्टन सविता ने बताया कि इस पुल को पहले भी दो-तीन बार रिपेयर कर दिया गया है, लेकिन दोषियों पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। जिला कार्यकारी उपाध्यक्ष किरन रावत ने कहा कि बड़ासी पुल के गिरने के लिए जिम्मेदार अधिकारियों और ठेकेदारों के खिलाफ कार्यवाही ना होने पर व्यापक आंदोलन छेड़ने की चेतावनी दी। उत्तराखंड क्रांति दल के संगठन सचिव सुरेंद्र बुटोला ने  आरोप लगाया कि बड़ासी मामले में जिम्मेदार अभियंताओं को बचाने का खेल शुरू हो गया है। सुरेंद्र बुटोला ने कहा कि फूल का डिजाइन अनुमोदित करने और तकनीकी परीक्षण के साथ ही भुगतान करने वाले अभियंताओं पर कोई कार्यवाही ना होना आश्चर्यजनक है। बड़ासी पुल मामले में जिम्मेदार अभियंताओं तथा ठेकेदारों के खिलाफ कार्यवाही कराने के लिए उत्तराखंड क्रांति दल ने आज क्षतिग्रस्त पुल के ऊपर खड़े होकर जमकर प्रदर्शन और नारेबाजी की। प्रदर्शन के दौरान उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय संगठन मंत्री संजय बहुगुणा, केंद्रीय मीडिया प्रभारी शिव प्रसाद सेमवाल, केंद्रीय अध्यक्ष खेल प्रकोष्ठ वीरेंद्र सिंह रावत, केंद्रीय संगठन सचिव सुरेंद्र बुटोला, महानगर कार्यकारी अध्यक्ष किरन रावत,  जिला अध्यक्ष महिला मोर्चा  सुलोचना ईस्टवाल, वरिष्ठ यूकेडी नेता कैप्टन सविता यूकेडी, जिला कार्यकारी अध्यक्ष किरन रावत, यूकेडी जिला अध्यक्ष युवा मोर्चा सीमा रावत, सोशल मीडिया प्रभारी युवा प्रकोष्ठ प्रशांत भट्ट आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!