उत्तरकाशी : मार्च का इंतजार न करे -नवंबर तक बजट खर्च करे – फर्जी बिलो को रोकने का फरमान

Share Now

मिशन 2022 मे सरकार की उपलब्धियों का पैमाना जनता से जुड़े काम को समय पर पारदर्शिता के साथ पूर्ण करना है | सूबे के नए युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी इस बात को बेहतर समझते है, लिहाजा सभी जिलो को युवाओ से जुड़े कार्यो को चाहे खाली पड़े पदो को भरने का हो अथवा जिला योजना मे खर्च का हो अथवा किसी अन्य योजनाओ मे लाभार्थियो के चयन का हो अधिकारियों को जिला वार रिपोर्ट कार्ड तैयार करने को कहा गया है | अक्सर विकास कार्य समय पर पूर्ण न होने पर मार्च महीने के अंतिम सप्ताह मे कागजो मे बजट को पूरा खर्च दिखाने की परंपरा है | इस बार नवंबर तक बजट का उपयोग करने के निर्देश दिये गए है |        

जनपद में विकासात्मक कार्यों को गति प्रदान करते हुए जिला सेक्टर में आवंटित धनराशि का माह नवम्बर तक शत-प्रतिशत खर्च कर लिया जाय, तथा आजीविका से जुड़े विभाग पात्र लाभार्थियों का चयन पूर्ण पारदर्शिता के साथ प्राथमिकता के तहत करना सुनिश्चित करें, यह निर्देश जिलाधिकारी श्री मयूर दीक्षित ने जिला सेक्टर,राज्य सेक्टर,केंद्र पोषित,वाह्य सहायतित की योजनाओं की समीक्षा बैठक लेते हुए अधिकारियों को दिए।

      जिलाधिकारी ने आजीविका से जुड़े सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को मिले इस हेतु पात्र लाभार्थियों का चयन समय रहते कर लिया जाय। ताकि उन्हें सरकारी योजनाओं से आच्छादित किया जा सके। जिला सेक्टर की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि समाज कल्याण, शिक्षा, सामुदायिक विकास, जल निगम प्राविधिक शिक्षा,स्वास्थ्य आदि विभाग को जिला योजना अन्तर्गत निर्माण कार्यों के लिए धनराशि आवंटित कर दी गई है। सम्बंधित विभाग शीघ्र कार्यदायी संस्थाओं को धनराशि हस्तांतरण करना सुनिश्चित करें। ताकि निर्माण कार्यों में तेजी लायी जा सकें। जिलाधिकारी ने राजकीय सिचाई समेत अन्य कार्यदायी संस्थाओं को निर्माण कार्यों की फ़ोटोग्राफ्स उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

     जिलाधिकारी ने पशुपालन, डेयरी,कृषि, उद्योग, उद्यान, लोक निर्माण, जल संस्थान, सिचाई, मत्स्य, शिक्षा,स्वास्थ्य, युवा कल्याण, खेल, सूचना, सहकारिता,वन आदि विभागों  की समीक्षा की व जरूरी दिशा निर्देश दिए।

      अपर संख्याधिकारी राजीव शर्मा ने बताया कि जिला योजना में अनुमोदित परिव्यय 53 करोड़ 50 लाख के सापेक्ष शासन से 38 करोड़ 28 लाख  की धनराशि आवंटित हुई है। जिलाधिकारी स्तर से भी उक्त आवंटित धनराशि विभागों को आवंटित कर दी गई है।

      बैठक में डीएफओ पुनीत तोमर, सीएमओ डॉ के.एस. चौहान, वरिष्ठ कोषाधिकारी बालकराम, सीवीओ डॉ प्रलंयकरनाथ, सीएचओ डॉ रजनीश, अपर संख्याधिकारी राजीव शर्मा सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!