उत्तरकाशी : स्विट्जरलैंड की तर्ज पर उभरेगा हर्षिल का पर्यटन -डीएम मयूर दीक्षित

Share Now

राज्य निर्माण के समय से ही पर्यटन को लेकर उम्मीद पाले उत्तराखंड वासियो को राज्य के 21 साल के युवा  होने तक इस क्षेत्र मे  कुछ खास हासिल नहीं हुआ | विधान सभा चुनाव 2022 सर पर है तो एक बार फिर गंगोत्री धाम से लगे खूबसूरत हर्षिल घाटी को मास्टर प्लान से व्यवस्थित करने की कवायद सुरू हो गयी है  

 पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से हर्षिल में मास्टर प्लान के अंर्तगत किए जा रहे सौंदर्यीकरण के कार्यों की समीक्षा की गई।

चार धाम यात्रा से हटकर है हर्षिल के कदरदान

   समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी श्री मयूर दीक्षित ने पर्यटन समेत  अन्य  कार्यदायी संस्थाओं को निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने आरईएस विभाग को शीघ्र ही बाजार में स्ट्रीट लाइट व सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिये। जबकि अधिशासी अभियंता विद्युत द्वारा अवगत कराया गया कि हर्षिल में ओपन बिजली की तारों को भूमिगत कर दिया गया है। वहीं जल संस्थान द्वारा बताया गया कि पेयजल लाइनों को व्यवस्थित ढंग से भूमिगत किए जाने की कार्यवाही गतिमान है शीघ्र ही कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। वहीं हर्षिल लेक निर्माण कार्य भी अंतिम चरण में है। जिस पर जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थाओं को कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि हर्षिल टूरिज्म के क्षेत्र में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। इसलिए समय रहते निर्माण कार्यों को तीव्र गति के साथ पूर्ण कर लिए जाय।

21 साल के बिगड़ैल युवा सी रही है अब तक की सरकारो के करतब

भले ही हर्षिल गंगोत्री धाम से 25 किमी पहले का एक पर्यटक स्थल है किन्तु यहा आने वाले पर्यटक गंगोत्री धाम के दर्शन  करने वाले भक्तो से कुछ अलग हटकर है | साफ लफ्जो मे कहे तो हर्षिल के अपने अलग क़द्रदान है, जो दिसंबर जनवरी की बर्फवारी हो या तपती  गर्मी,  हर मुसकिल को  झेलते हुए वे इस घाटी मे समय बिताने जरूर पहुचते है | हैरानी की बात तो ये है की वर्षो पहले जब सड़क संपर्क मार्ग भी नहीं थे तब एक विदेशी विल्सन इस घाटी को न सिर्फ सेब के लिए बल्कि प्रकृतिक खूबसूरती के लिए भी  दुनिया भर मे बिख्यात  कर देता है,  पर उत्तरप्रदेश से अलग राज्य निर्माण के बाद भी 21 साल के बिगड़ैल युवा की तरह अब तक की सरकारे सिर्फ बहाने भर करती रही है |

         बैठक में पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा, डीएफओ पुनीत तोमर, सीडीओ गौरव कुमार,परियोजना निदेशक संजय सिंह, अधिशासी अभियंता लोनिवि राजेन्द्र सिंह खत्री, जिला पर्यटन विकास अधिकारी प्रकाश खत्री सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!