कोरोना की तीसरी लहार में सरकारी मदद से पहले फर्स्ट रेस्पांडर बनेंगे टिहरी उत्तरकाशी जन विकास परिषद के स्वयं सेवक

Share Now

कोरोना महामारी की तीसरी लहर आने से पूर्व स्वास्थ्य विभाग और प्रशासनिक तैयारियों के इतर आम लोगो को इसके लिए तैयार कर फर्स्ट रेस्पांडर बनाने के संककप के साथ टिहरी उत्तरकाशी जन विकास परिषद ने कुछ युवाओं को 10 से 20 दिन का प्रशिक्षण देने का प्रस्ताव दिया है, ताकि मेडिकल हेल्प मिलने तक आम लोगो को जरूरी मदद मिल सके। परिषद के केंद्रीय कार्यलय मयूर विहार में एक बैठक के दौरान जरूरी निर्णय लिए गए।

हरीश असवाल नई दिल्ली डेस्क

आज कोविड हेल्प डेस्क – टिहरी उत्तरकाशी जन विकास परिषद समिति के गणमान्य व्यक्तियों ने DPMI कार्यालय में बैठक विचार विमर्श कर DPMI निदेशक एवं अध्यक्ष भाजपा मयूर विहार डॉक्टर विनोद बच्छेती के मार्गदर्शक लिया और उनके कोविड हेल्प डेस्क पत्र सम्पूर्ण जानकारी के साथ अवगत कराया और सरकारी / ग़ैर सरकारी जैसी सहायता हेतु मार्ग दर्शक के रूप में कोविड हेल्प समिति से जोड़ा गया , डॉक्टर बच्छेती ने क़ोरोना तीसरी लहर जैसी संक्रमण से लड़ने के लिये हर संस्थाएँ से मिलाकर युवाओं को बेसिक प्रशिक्षण जानकारी 10-20 दिन निशुल्क ट्रेनिंग के रूप में DPMI में दिया जाने की विचार किया है ताकि ऐसी मुसीबत में उन युवाओं की सहायता ले जा सकेंगे ,


दिल्ली (एनसीआर )में उत्तराखंड समाज के कई परिवारों ने इस वर्ष में, अपने परिजनों को कोरोना विषाणु संक्रमण की महामारी या अन्य संबंधित किसी रोग के कारण अत्यंत विपरीत परिस्थितियां में खोया है और वह परिवार दुःखद संकट के कारण या जनकारी नही होने के कारण सरकारी काग़जात ,स्वास्थ्य बीमा अड़चन, या क़ानूनी सहायता एवं जो बच्चे कोविड के कारण अनाथ बच्चे हो गये है या परिवार का मुख्य की कोविड मृत्यु होने के कारण फ़ीस देने में असमर्थ जैसे समस्या है तो उस पीड़ित परिवारों हेतु, दिल्ली में स्थापित ‘टिहरी उत्तरकाशी जन विकास परिषद’ एवं गणमान्य व्यक्तियों के सहयोग
द्वारा केंद्र, राज्य व अन्य सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थाओं के माध्यम से, सहायता करने का संकल्प लिया गया है, उपरोक्त जानकारी में कोविड मृतक का विवरण पीड़ित परिवार या उनके सहयोगी द्वारा जानकारी लेकर लिस्ट तैयार की जा रही है,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!