समीक्षा बैठक में प्रभारी मंत्री की चेतावनी, कार्य प्रणाली में सुधारात्मक रवैया न अपनाया तो होगी कार्यवाही

Share Now

-कार्य में लापरवाही पर महाराज ने लोनिवि अधिकारियों को लगाई जमकर फटकार

रूद्रपुर। प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई, जलागम, धर्मस्व, संस्कृति एवं जनपद प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। जिला कलेक्ट्रेट सभागार में शनिवार को हुई बैठक में जहाँ एक ओर प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई, जलागम, धर्मस्व, संस्कृति एवं जनपद के प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने विभागीय अधिकारियों की जमकर क्लास ली वहीं उन्होने इससे पूर्व जिला भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के साथ पार्टी कार्यालय में जाकर प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भी वर्चुवल शामिल होकर प्रतिभाग किया।
जिला कलेक्ट्रेट सभागार में हुई समीक्षा बैठक में जनपद के प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जो बजट जिस मद में आवंटित किया गया है उस कार्यो को गुणवत्ता व समयबद्धता के साथ शतप्रतिशत खर्च करना सुनिश्चित करें। प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने जिलाधिकारी से कहा कि जिस विभागाध्यक्ष द्वारा बजट पूर्ण खर्च नहीं किया जायेगा उसको प्रतिकूल प्रविष्ठि देना सुनिश्चित करें। बैठक में स्थानीय विधायकों ने कार्य में शिथिलता और लापरवाही के लिए जब लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की शिकायत की तो  कैबिनेट मंत्री श्री महाराज ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की जमकर क्लास लेते हुए फटकार लगाई। उन्होने लोनिवि अधिकारियों से जल्द ही अधूरी पड़ी सड़कों के निर्माण कार्यो में तेजी लाने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनपद में जो कोविड-19 संक्रमण की रोक-थाम, टीकाकरण व विकास कार्य किये जा रहे हैं वह सराहनीय है, लेकिन इससे भी और अधिक मेहनत से कार्य करने की जरूरत है।
प्रभारी मंत्री ने जिलाधिकारी को कहा कि एनएच, एनएचएआई व लोनिवि द्वारा किये जा रहे कार्यो की माॅनिट्रिंग करते हुये उनकी समीक्षा भी करें। उन्होने लोनिवि के अधिकारियों को निर्देश दिये कि निर्माण कार्यो की सूची शीघ्र उपलब्ध करायें व जो अधूरे कार्य हैं उसे शीघ्र पूर्ण करें व प्रस्ताव बनाने से पहले कार्यो का भली भांति परीक्षण कर ले तभी शासन को प्रस्तुत करें। उन्होने चेतावनी देते हुये कहा कि कार्य प्रणाली में सुधारात्मक रवैया अपनाये नहीं तो प्रतिकुल प्रविष्ठि अमल में लायी जायेगी।
उन्होने कहा कि अधिकारी निर्माण कार्यो का समय-समय पर निरीक्षण भी करें ताकि कार्यो में गुणवत्ता व पारदर्शिता बनी रहे। श्री महाराज ने कहा कि सरकार की मंशा है कि विकास योजनाओं का लाभ  अधिक से अधिक लोगों को मिल सकें। उन्होने जनपद में कोविड-19 संक्रमण की रोक-थाम के लिये टेस्टिंगध्सैम्पलिंग बढाने व संक्रमित व्यक्ति को तत्काल उचित उपचार मुहैया कराने के भी निर्देश सम्बन्धित अधिकारी को दिये।
उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 डीएस पंचपाल को निर्देश दिये कि आशा, आंगनबाडी, एएनएम को आॅक्सोमीटर, थर्मामीटरी, मास्क, सैनेटाईजर आदि उपलब्ध करायें ताकि दूरस्थ क्षेत्रों में लोगों की जांच भली भांति हो सकें। उन्होने कहा कि टैस्टिंग, वैक्सीनेशन की इस तरह से प्लानिंग करें कि आम आदमी को सरलता से इसका लाभ मिल सकें। जनपद के प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज ने समीक्षा के दौरान कहा कि कोरानो संक्रमण के दौरान आम जनता द्वारा यह भी शिकायतें आयी हैं कि कतिपय निजी अस्पतालों द्वारा ईलाज के एवज में अधिक धनराशि ली जा रही थी। उन्होने कहा कि इन मामलों को गम्भीरता को देखते हुये सम्बन्धित अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुये शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होने जनपद में अवैध खनन पर भी रोक लगाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि जिन लाभार्थियों के राशन कार्ड आॅनलाईन नहीं हुये हैं उन्हे भी राशन देने की प्रक्रिया शीघ्र सुनिश्चित करें व उनकी सूची शासन को उपलब्ध करायें। इस विषय में उन्होने सचिव खाद्य से फोन पर वार्ता भी की। इस अवसर पर विधायक राजकुमार ठुकराल, राजेश शुक्ला, पुष्कर सिंह धामी, आदेश सिंह चैहान, मेयर रामपाल सिंह, उषा चैधरी, अपर जिलाकारी जगदीश चन्द्र काण्डपाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 डीएस पंचपाल, मुख्य नगर आयुक्त रिंकु बिष्ट, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी आर्या, मुख्य उद्यान अधिकारी एचसी तिवारी, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि महिपाल सिंह रावत, ईई जल संस्थान तरूण शर्मा, पीडी हिमांशु जोशी, जिला विकास अधिकारी डा0 महेश कुमार, जिला अर्थ एवं संध्याधिकारी ललित चन्द्र आर्य सहित सम्बन्धित विभागों के अधकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!