पेपर लीक मामले में एक और सरकारी शिक्षक गिरफ्तार

Share Now

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने एक और सरकारी शिक्षक को बागेश्वर से गिरफ्तार किया है। वह अपने क्षेत्र के अभ्यर्थियों को बिजनौर के धामपुर ले गया था। उनको प्रश्नों के उत्तर याद कराकर परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाया था। पेपर लीक में यह 22वीं गिरफ्तारी है। आयोग ने स्नातक स्तरीय परीक्षा पिछले साल दिसंबर में कराई थी। धांधली की शिकायतों पर बीती 22 जुलाई को मुख्यमंत्री के निर्देश पर रायपुर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। इसकी जांच एसटीएफ को सौंपी गई। इसके बाद से ही एसटीएफ कड़ियां जोड़कर लगातार गिरफ्तारियां कर रही है। रविवार को एसटीएफ ने बागेश्वर के एक सरकारी शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया।
एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि चांदी खेत, गनाई चैखुटिया, जिला अल्मोड़ा निवासी आरोपी शिक्षक जगदीश गोस्वामी राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मलसूना, कांडा, बागेश्वर में नियुक्त है। वह मुख्य आरोपी हाकम सिंह के संपर्क में था। एसएसपी ने बताया कि अभ्यर्थियों के बयान, इलेक्ट्रानिक साक्ष्यों के आधार पर पूछताछ के बाद शिक्षक की गिरफ्तारी की गई। पेपर लीक मामले में गिरफ्तार शिक्षक जगदीश गोस्वामी कांडा तहसील के राजकीय हाईस्कूल मलसूना में चार साल से शारीरिक शिक्षक के पद पर कार्यरत है। आरोपी बिना अवकाश लिए 19 अगस्त से विद्यालय नहीं आया था। मालूम हुआहै कि आरोपी शिक्षक ठाट बाट से रहता था। क्षेत्र के लोग शिक्षक के पेपर लीक प्रकरण में संलिप्त होने से सकते में हैं। प्रकरण की कांडा क्षेत्र के साथ ही संपूर्ण जिले में चर्चा है। शिक्षक मूल रूप से अल्मोड़ा जिले के चैखुटिया के चांदीखेत का निवासी बताया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!