ऋण चाहने वाले आवेदकों को बैंकों के अनावश्यक चक्कर न लगाने पड़ेः डीएम

Share Now

रूद्रपुर। विभिन्न योजनाओं में ऋण चाहने वाले आवेदकों को बैंको के अनावश्यक चक्कर न लगाने पड़े, अन्यथा सम्बन्धित बैंकर्स के खिलाफ बैंकिंग एम्बशमेंट (बैंकिंग आघात) की शिकायत दर्ज कराई जायेगी। यह बात जिलाधिकारी युगल किशोर पन्त ने डाॅ.एपीजे अब्दुल कलाम सभागर में जिला समन्वय समिति एवं जिला स्तरीय समीक्षा समिति (डीसीसी डीएलआरसी) की बैठक लेते हुए कही। जिलाधिकारी ने ऋण आवेदन हेतु प्राप्त होने वाले आवेदनों पर कार्यवाही हेतु 15 दिन की डेडलाइन जारी करते हुए कहा कि आवेदन पत्रों पर 15 दिन के भीतर कार्यवाही करना सुनिश्चित करें, यदि आवेदन को निरस्त किया जाता है तो निरस्तीकरण के कारण का भी स्पष्ट उल्लेख किया जाये। उन्होंने बैंको को कड़े निर्देश देते हुये कहा कि यदि किसी भी बैंक शाखा द्वारा योजना से सम्बन्धित आवेदनों को समय से निस्तारण नही किया गया तो सम्बन्धित के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल मंे लायी जायेगी। उन्होंने सख्त नाराजगी जाहिर करते हुए निर्देश दिये कि अनावश्यक दस्तावेज न मांगे जाये तथा आवेदकों को अनावश्यक परेशान न किया जाये और आरबीआई द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार ही आवश्यक दस्तावेज मांगे जाये। जिलाधिकारी ने सरकार द्वारा संचालित सब्जिडी आधारित योजनाओं में ऋण देने में अनावश्यक विलम्ब करने वाले एवं आवेदकों से अनावश्यक चक्कर लगवाने वाले बैंकर्स के खिलाफ प्रत्येक माह बैंकिंग एम्बशमेंट (बैंकिंग आघात) की शिकायत दर्ज कराने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। जिलाधिकारी ने सभी बैंकर्स को आगामी बैठकोें में पूरी तैयारियों एवं सूचनाओं के के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने सभी बैंकर्स को जनपद में डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देने, सामाजिक सुरक्षा तथा धोखाधड़ी से बचाव हेतु वित्तीय साक्षरता कैम्प लगाकर लोगो को जागरूक करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने हेतु निर्देशित करते हुए कहा कि केसीसी जारी करने में किसी भी प्रकार की लापरवाही न हो। उन्होंने जनपद के ऋण जमानुपात की समीक्षा करते हुए स्पष्ट निर्देश दिये कि जनपद का ऋण जमानुपात अगले माह तक किसी भी दशा में 95 प्रतिशत से नीचे न हो।
जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, सीएम स्वरोजगार योजना (नैनो), पीएम स्वनिधि योजना, एनआरएलएम,एनयूएलएम के अन्तर्गत बैंकर्स द्वारा बहुत कम ऋण आवेदन स्वीकृत करने तथा अधिक आवेदन लम्बित रखने पर सख्त नाराजगी जाहिर की। उन्होंने सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को सबसे पुराने लम्बित आवेदन पत्रों की बैंकवार सम्पूर्ण जानकारियों से उपस्थित होने के निर्देश दिये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, अपर जिलाधिकारी डाॅ0 ललित नारायण मिश्र, परियोना प्रबन्धक स्वजल हिमांशु जोशी, एलडीओ आरबीआई विकास त्यागी, लीड बैंक अधिकारी एसएस जंगपांगी, उप महाप्रबन्धक नवार्ड राजीव प्रियदर्शी, महाप्रबन्धक उद्योग चंचल बोहरा, मुख्य पशुपालन अधिकारी जीएस गौतम, जिला पर्यटन अधिकारी पीके गौतम, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्ध, मुख्य कृषि अधिकारी ऐके वर्मा सहित सम्बन्धित बैंको के शाखा प्रबन्धक आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!