चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुटा चमोली जिला प्रशासन

Share Now

गोपेश्वर। चमोली जिला प्रशासन विधानसभा चुनाव निपटाने के बाद अब चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुट गया है। बदरीनाथ यात्रा पड़ावों पर साफ-सफाई, पेयजल, शौचालय, बिजली, स्वास्थ्य जैसी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए संबंधित विभागों को कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने दिए हैं। डीएम ने नगर पालिका और नगर पंचायतों को यात्रा के प्रमुख पड़ावों पर महिला शौचालय की सुविधा देने के निर्देश भी दिए हैं। बदरीनाथ धाम की तीर्थयात्रा आठ मई से शुरू होगी, जिसे लेकर यात्रा पड़ावों पर अभी से चहल-पहल होनी शुरू हो गई है। दो वर्ष तक कोरोना संक्रमण के कारण यात्रा प्रभावित रही, लेकिन इस बार चारधाम यात्रा के बेहतर चलने की उम्मीद है। प्रशासन की ओर से यात्रा की तैयारियां शुरू कर दी गई लेकिन अभी भी बदरीनाथ धाम में बर्फबारी के कारण मास्टर प्लान का कार्य आधा-अधूरा पड़ा हुआ है।
लिहाजा प्रशासन को निर्माण कार्यों के साथ यात्रा का संचालन करना चुनौती भरा बना रहेगा। बदरीनाथ यात्रा के प्रमुख पड़ाव चमोली और पीपलकोटी में महिला शौचालय की दिक्कत है। इन जगहों पर पेयजल की भी दिक्कत बनी रहती है। पीपलकोटी और जोशीमठ में स्वास्थ्य सुविधाएं भी बदहाल हैं। यहां सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में चिकित्सकों की कमी बनी है। इस बार बदरीनाथ धाम में भारी बर्फबारी हुई है। हनुमानचट्टी से माणा गांव तक बदरीनाथ हाईवे पर पांच हिमखंड आए हैं, जिन्हें बीआरओ (सीमा सड़क संगठन) की जेसीबी हटाने में लगी हैं। बर्फबारी से बदरीनाथ धाम में बिजली और पेयजल लाइनों को भी भारी क्षति पहुंचने की संभावना है, जिसके निरीक्षण के लिए जिला प्रशासन संबंधित अधिकारियों की टीम जल्द ही बदरीनाथ धाम भेजेगा। हालांकि अभी रड़ांग बैंड से आगे बदरीनाथ हाईवे बर्फ से ढका हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!