चार धाम यात्रा : यमनोत्री मार्ग पर 50 , जबकि गंगोत्री मे चार तीर्थ यात्री अनफिट

Share Now

 

उत्तरकाशी जिले के  दोनों धाम में दर्शन करने आ रहे श्रद्धालुओं का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। यात्रा मार्ग पर अस्थायी स्वास्थ्य केंद्रों,प्रतीक्षालयों में डाॅक्टरों की तैनाती की गई है जिनके द्वारा किसी श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य खराब होने पर स्वास्थ्य परीक्षण एवं उपचार किया जा रहा है। यात्रा मार्ग पर आवश्यक दवाई,ऑक्सीजन सिलेंडर पर्याप्त मात्रा में है। यमुनोत्री धाम में आज 3852 लोगों की स्क्रीनिंग,410 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। जबकि 50 तीर्थ यात्री अनफिट पाए गए। तीन लोगों को चिकित्सक की सलाह पर वापस भेजा गया। इसी प्रकार गंगोत्री धाम में 3374 लोगों की स्क्रीनिंग 252 लोगो का स्वास्थ्य परीक्षण व चार लोग अनफिट पाए गए।पैदल मार्ग पर तीर्थ यात्रियों के सुगम आवगमन हो इस हेतु यात्रियों की सहायता के लिए पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। इसके अतिरिक्त जिला पंचायत व नगर पंचायत द्वारा धाम परिसर व यात्रा मार्ग पर निरंतर साफ-सफाई व्यवस्था बेहतर ढंग से की जा रही है।

जानकी चट्टी से श्री यमुनोत्री धाम जाने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए उनकी सुविधा अनुसार घोड़ा, खच्चर, डंडी कंडी की व्यवस्था सुनिश्चित की गई हैं। जिसका शुल्क निर्धारित किया गया है। घोड़ा खच्चर पड़ाव पर रेट लिस्ट चस्पा की गई है। पशुपालन विभाग द्वारा नियमित घोड़े खच्चर का भी स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। जिसमें तीन घोड़े खच्चर अनफिट पाए गए औऱ आठ का उपचार किया गया। यात्रा मार्ग पर चरी निर्माण के जरिये घोड़े,खच्चरों के लिए पीने का पानी की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।
खाद्य आपूर्ति विभाग द्वारा नियमित होटल,ढाबा,रेस्टोरेंट,व्यापारिक प्रतिष्ठानों का औचक निरीक्षण किया जा रहा है। निरीक्षण में ओवर रेट, खाने की गुणवत्ता व स्वच्छता आदि को लेकर सम्बंधित व्यवसायों को निर्देशित किया जा रहा है। टीम द्वारा आज 51 दुकानों, होटल,ढाबों का निरीक्षण किया गया। जिसमें तीन दुकानों पर रेट लिस्ट नही पाई गई। टीम द्वारा तत्काल दुकानदारों को रेट लिस्ट लगाने के निर्देश दिए। दोनों धाम के यात्रा मार्ग पर स्थित पेट्रोल पंपो में पर्याप्त ईंधन की उपलब्धता बनाएं रखने के निर्देश दिए गए है ताकि तीर्थ यात्रियों को ईंधन को लेकर कोई असुविधा न हो सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!