हरीश रावत को कांग्रेस ने भी नकाराः मदन कौशिक

Share Now

देहरादून। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां जोर-शोर से तैयारियों में जुटी हुई हैं। इस दौरान पक्ष-विपक्ष एक-दूसरे पर निशाना साधते हुए तरह-तरह के आरोप लगा रहे हैं। इसी कड़ी में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। मदन कौशिक ने राज्य में कांग्रेस की भूमिका पर तमाम तरह के आरोप लगाए हैं।
मदन कौशिक ने कहा कि उत्तराखण्ड की कांग्रेस ने शुरू से ही हर स्तर पर उपेक्षा की है। राज्य निर्माण से पहले कांग्रेस के बड़े नेता कहते थे कि मेरी लाश पर राज्य का निर्माण होगा। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के दिए विशेष पैकेज को कांग्रेस ने छीन लिया। मदन कौशिक ने हरीश रावत पर भी तंज कसा है। उन्होंने कहा कि लोग कहते थे उत्तराखंड की चाहत हरीश रावत, लेकिन अब तो वो कांग्रेस की भी चाहत नहीं रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता तो उन्हे पिछले विधानसभा चुनाव में ही नकार चुकी थी। अब कांग्रेस भी उनसे छुटकारा पाना चाहती है। मदन कौशिक ने कहा कि प्रदेशवासी भलीभांति जानते है कि भाजपा के शासन में ही प्रदेश के हित सुरक्षित रह सकते है। कांग्रेस ने अपने पिछले शासन में सत्ता का सुख भोगने के सिवा कुछ नही किया।
भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन कौशिक ने देहारादून में आयोजित एक पत्रकार वार्ता में कहा कि कॉंग्रेस और उत्तरखंडीयत की बात करने वाले हरीश रावत शुरुआत से राज्य निर्माण के खिलाफ रहे हैं और अब चुनाव में चेहरा बनाने को लेकर हो रही सार्वजनिक सिर फुट्टोव्वल जनता देख रही है। चूंकि उनकी आपसी लड़ाई सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से सार्वजनिक हो गयी है इसलिए जनहित में हम इस विषय पर भी अपनी बात रख रहे हैं। उन्होने विस्तार देते हुए कहा कि कोंग्रेसी नेताओं में हो रही यह लड़ाई कोई जनता के लिए नहीं बल्कि अपने लिए दिल्ली दरबार से उत्तराखंड में लूट का लाइसेन्स लेने को लेकर है द्य क्यूंकि राज्य एवं केंद्र की की अपनी सरकारों के कार्यकाल में इनहोने कभी कोई विकास योजनाएँ राज्य के लिए नहीं शुरू की, उल्टा केंद्र की अटल सरकार द्धारा दिये विशेष औधौगिक पैकेज को भी समय से पहले ही समाप्त करने का कार्य भी इनकी यूपीए सरकार ने किया। साथ ही प्रदेश में भाजपा सरकारों के कार्यकाल में विकास कार्यों को लटकाने भटकाने का करी किया।
 यहीं वह कॉंग्रेस है जिसने राज्य निर्माण से जुड़े संसद में रखे प्राइवेट बिल का विरोध किया, इनके बड़े नेताओं ने राजनैतिक महत्वाकांषाओं की पूर्ति के लिए अपनी लांश पर राज्य निर्माण और केंद्र शासित प्रदेश बनाने की मांग की द्य कॉंग्रेस पार्टी ने उत्तराखंड राज्य निर्माण को लेकर न कभी संघर्ष किया, न संकल्प लिया और न ही कभी इनका लगाव था, और अब उत्तराखंडियत का झूठा दावा कर रहे हैं। दिवंगत सीडीएस जनरल विपिन रावत और सेना का अपमान करने वाले नेताओं को पार्टी से निकालना तो दूर कभी उनसे माफी भी नहीं मंगवायी।अब वीर ग्राम यात्रा निकालकर लोग को भ्रमित करने की कोशिश में हैं।
 मदन कौशिक ने पत्रकारों के सवालों का जबाब देते हुए कहा कि उत्तराखंड की चाहत बनने का स्वयं ढ़ोल पीटने वाले हरीश रावत को खुद उनकी ही ने ठुकरा दिया है, उनकी अपनी पार्टी में ही अब चाहत नहीं है। फर्क साफ है कि एक और भाजपा विजय संकल्प यात्रा के माध्यम से अपने विकास कार्यों पर जन आशीर्वाद लेने सूबे के कोने कोने में जा रही है, वहीं दूसरी और कोंग्रेसी जनता के बजाय अपने आलाकमान का आशीर्वाद लेने के लिए दिल्ली के चक्कर काट रहे हैं। फर्क साफ है कि एक और लोकप्रिय भाजपा सरकार की विकास योजनाएँ प्रदेश की जनता को राहत दे रही हैं, वहीं कोंग्रेसी नेताओं में युद्ध से पहले ही हारे हुए योद्धा जैसी छटपटाहट और निराशा नज़र आ रही है। पत्रकार वार्ता में भाजपा की आर से सुरेश जोशी, अनिल गोयल, देवेंद्र भसीन, दीप्ति रावत, विपिन कैंथोला, राजेंद्र सिंह नेगी, संजीव वर्मा, आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!