आईएएस पत्नियों की एसोसिएशन का दिवाली फेस्ट – मुनाफे से होगा जगत कल्याण

Share Now

एक तरफ प्रदेश के आईएएस सचिवालय मे बैठ कर प्रदेश मे विकास योजनाए संचालित करने का खाका खींच रहे है वही सिविल सर्विस आफिसर्स वाइव्स एसोसिएशन भी एक कदम आगे बढ़ाते हुए संजीवनी स्वयं सेवी संस्था के माध्यम से महिलाओं तथा बालिकाओं के उत्थान एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में 20 सालों से प्रयासरत है, इस बार दिवाली मेले के रूप मे प्रदेश के कारीगरों, हस्त शिल्पियों, कलाकारों व लघु उद्यमियों को एक मच देकर पिछले कुछ समय से कोविड-19 से हुई आर्थिक हानि से उबरने के लिये उनके उत्पादों हेतु मंच प्रदान कर रही है इसका लाभन्स भी समाज के हित के लिए उपयोग किया जाएगा

शुक्रवार को ओल्ड मसूरी रोड स्थित सी.एस.आई. में द उत्तराखंड सिविल सर्विस आफिसर्स वाइव्स एसोसिएशन द्वारा संचालित गैर लाभकारी संस्था संजीवनी द्वारा दो दिवसीय संजीवनी दिवाली फेस्ट कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। फेस्ट के दौरान उत्तराखण्ड के स्थानीय उत्पादों पर आधारित स्टॉल आदि लगाये गये हैं।

इस अवसर पर संस्था की अध्यक्षा डॉ. हरलीन कौर सन्धु ने बताया कि संजीवनी द्वारा आयोजित इस मेले का उद्देश्य प्रदेश के कारीगरों, हस्त शिल्पियों, कलाकारों व लघु उद्यमियों को पिछले कुछ समय से कोविड-19 से हुई आर्थिक हानि से उबरने के लिये उनके उत्पादों हेतु मंच प्रदान करना है। मेले से प्राप्त आय का उपयोग प्रदेश में सामाजिक कल्याण के क्षेत्र में विभिन्न कार्यों के लिये किया जायेगा।



उन्होंने बताया कि इस तरह के आयोजन से हमारे स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा मिलेगा और उत्तराखण्ड के विभिन्न थीम पर आधारित उत्पादों को सही प्लेटफार्म मिलने से राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय स्तर हमारे स्थानीय उत्पादों को अलग पहचान मिलेगी। महिला एवं बालिका विकास को समर्पित संजीवनी संस्था कोरोना काल से प्रभावित ग्रामीण दस्तकारी, हस्तशिल्प, आयुर्वेदिक उत्पाद एवं अन्य ग्रामोत्पादों को एक प्लेटफार्म उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

इस अवसर पर संस्था की सदस्य श्रीमती रश्मि वर्द्धन, श्रीमती अंशु पाण्डेय आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!