डोईवाला – गन्ने का मूल्य जल्दी घोषित नहीं किया तो किसानों के लिए सड़कों पर उतरेगा यूकेडी

Share Now

गन्ना मूल्य निर्धारण के लिए उक्रांद ने सौंपा ज्ञापन

उत्तराखंड क्रांति दल आज डोईवाला शुगर मिल में गन्ना किसानों के समर्थन में शुगर मिल के अधिशासी निदेशक को गन्ना मूल्य घोषित करने के संबंध में ज्ञापन सौंपा तथा अब तक खरीदे गए गन्ने का शीघ्र भुगतान करने के लिए डोईवाला शुगर मिल के अधिशासी निदेशक से उत्तराखंड क्रांति दल के नेता शिवप्रसाद सेमवाल ने यह मांग की कि इस बार गन्ने का खरीद मूल्य साढे तीन सौ रुपये प्रति कुंटल से किसी भी हाल में कम नहीं होना चाहिए।

उक्रांद के वरिष्ठ नेता वीरेंद्र थापा ने कहा कि समय पर भुगतान न होने से किसान हतोत्साहित हो रहे हैं।

उत्तराखंड क्रांति दल के जिलाध्यक्ष केंद्र पाल सिंह तोपवाल ने कहा कि यदि पंद्रह दिन में मूल्य तय नही होते तो उत्तराखंड क्रांति दल किसानों के हित मे हर संभव मदद करेगा।

 अधिशासी निदेशक मनमोहन सिंह रावत ने आश्वस्त किया कि जल्दी ही गन्ने का मूल्य घोषित कर दिया जाएगा तथा किसानों को फिलहाल पुरानी दर पर खरीदे जा रहे गन्ने का भुगतान किया जा रहा है जो भी बढ़ोतरी तय होगी , उस हिसाब से शेष रकम भी किसानों को शीघ्र ही दे दी जाएगी।

उत्तराखण्ड क्रांति दल के वरिष्ठ नेता शिव प्रसाद सेमवाल के नेतृत्व मे उत्तराखंड क्रांति दल ने डोईवाला शुगर मिल के प्रबंध निदेशक मनमोहन सिंह रावत से मुलाकात की और गन्ना किसानों के हित में गन्ने का मूल्य घोषित कर नए मूल्य से गन्ने का भुगतान करने की मांग की।

 यूकेडी के नेता शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा कि केंद्र की सरकार किसानों की आय डबल करने की बात तो करती है लेकिन वास्तविक हालात अगर देखे तो किसान को अपनी फसल का ही उचित मुआवजा नहीं मिलता है, सरकार के दोहरे रवैए के कारण आज किसान सड़कों पर है।

 केंद्र सरकार के 3 किसान बिल जहां किसानों का पहले ही शोषण का आधार बने हुए हैं तो वहीं अब गन्ने का मूल्य घोषित ना करके राज्य सरकार ने भी किसानों के हित से खिलवाड़ किया है। ज्ञापन देते हुए यूकेडी नेता ने कहा कि अगर जल्दी ही गन्ने का मूल्य घोषित नहीं किया गया तो उत्तराखंड क्रांति दल किसानों के लिए सड़कों पर उतरने को मजबूर होगा जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

उधर डोईवाला शुगर मिल के प्रबंध निदेशक मनमोहन सिंह रावत ने कहा कि यूकेडी के नेताओं ने गन्ने का मुख्य घोषित करने की मांग का ज्ञापन दिया है जिसमें उन्होंने गन्ना मूल्य घोषित करने की मांग की है ज्ञापन को उच्च अधिकारियों के पास कार्यवाही हेतु भेजा जा रहा है।

ज्ञापन देने वालों में उत्तराखंड क्रांति दल के जिला अध्यक्ष केंद्र पाल तोपवाल, वरिष्ठ नेता वीरेंद्र सिंह थापा, अवतार सिंह बिष्ट,अरविंद सिंह बिष्ट और युवा मोर्चा की जिला अध्यक्ष सीमा रावत शामिल थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!