बारिश से जंगलों की आग बुझी, प्राकृतिक जल स्रोत भी होने लगे रिचार्ज

Share Now

रुद्रप्रयाग। बीते कई दिनों से जंगलों की भीषण आग और गर्मी से लोग परेशान थे, लेकिन शनिवार शाम को अचानक हुई जोरदार बारिश से जंगलों की आग बुझी है। साथ ही गर्मी से भी लोगों को राहत मिली है। जबकि, जिन ग्रामीण इलाकों में आग के कारण प्राकृतिक जल स्त्रोत सूख गए थे, वहां भी प्राकृतिक जल स्त्रोत रिचार्ज होने लगे हैं।
रुद्रप्रयाग जिले के जंगलों में लग रही आग के कारण ग्रामीण जनता खासी परेशान थी। साथ ही प्राकृतिक जल स्त्रोत भी आग के कारण सूखने लगे थे। शनिवार को जिले में आंधी तूफान चलने के बाद जोरदार बारिश शुरू हुई। कई जगहों पर तो बारिश ठीक हुई, लेकिन कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। अचानक बदले मौसम से चारों ओर फैली धुंध और गर्मी से लोगों को भारी राहत मिली। रुद्रप्रयाग के साथ ही तिलवाड़ा, अगस्त्यमुनि, ऊखीमठ, गुप्तकाशी आदि स्थानों पर जोरदार बारिश हुई। कई जगहों पर धूलभरी आंधी चली, जिससे लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। हालांकि, उम्मीद के मुताबिक बारिश नहीं हुई है, लेकिन जितनी भी बारिश हुई, उससे जंगलों की आग, धुंध और गर्मी से लोगों को काफी निजात मिली है। पेयजल संकट से जूझ रहे ग्रामीणों को अब पानी के लिए भी नहीं जूझना पड़ेगा। उन्हें उम्मीद है कि बारिश से प्राकृतिक स्त्रोत भी रिचार्ज हो जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!