जिलों के गठन के लिए हरीश रावत का दावा ठीक वैसा है जैसे गैरसैण में राजधानी घोषित करने का फैसला- भगत

Share Now

देहरादून, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री बंशीधर भगत ने हरीश रावत के उस बयान पर पलटवार किया है जिसमें उन्होंने भाजपा पर विधायकों को चुराने का आरोप लगाया।
भाजपा अध्यक्ष श्री भगत ने कहा कि जनता के द्वारा नकारे जाने के बाद श्री हरीश रावत कुछ समय तो पश्चाताप के घडि़याली आंसू बहाते रहे और हार की जिम्मेदारी लेते रहे, लेकिन चुनाव का समय आ रहा है तो अब सरकार को अस्थिर करने के लिए भाजपा पर आरोप लगा रहे हैं।

   श्री भगत ने कहा कि जिलों के गठन के लिए हरीश रावत का दावा उसी तरह है जैसे गैरसैण में राजधानी घोषित करने का फैसला। गैरसैण में आम जनता की मांग भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र के अनुसार मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंन्द्र सिंह रावत द्वारा गैरसैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित कर पूरी की गई है। 

    उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रहते हुए श्री हरीश रावत निरंकुश रहे और  वह किसी की नहीं सुनते थे जिस कारण उनके विधायकों ने उनकी सुनना बंद कर दिया और अलग रास्ता चुन लिया। 
           कांग्रेस के कई मंत्री विधायकों और वरिष्ठ नेताओं ने श्री रावत की निरंकुशता से तंग आकर कांग्रेस पार्टी को ही बाय कर दिया । 
    श्री भगत ने श्री हरीश रावत पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्हें अपने कार्यकाल को याद करना चाहिए और अपनी असफलता को छिपाने के लिए दूसरों पर दोष नहीं मढ़ना चाहिए।

   श्री भगत ने कहा कि आज श्री हरीश रावत जनता के लिए संघर्ष नहीं बल्कि चेहरे की लड़ाई लड़ रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!