डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ से मारपीट के आरोपियों की गिरफ्तारी न हुई तो होगा आंदोलन

Share Now

देहरादून। कोरोनेशन अस्पताल में डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ से मारपीट मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। जिससे डाक्टरों एवं मेडिकल कर्मचारियों में आक्रोश हैं। पीएमएचएस ने सोमवार सुबह कोरोनेशन अस्पताल में डॉक्टरों की बैठक बुलाई है। इसमें प्रदेशभर में कार्य बहिष्कार का ऐलान हो सकता है। इससे पुलिस में हड़कंप मचा है।
 गुरुवार रात इमरजेंसी में डॉ. गौरंग जोशी, फार्मासिस्ट श्यामलाल और वार्ड ब्वॉय सुधीर के साथ कुछ लोगों ने मारपीट कर दी थी। ये लोग नशा मुक्ति केंद्र से एक युवक को लाए थे, जिसको मृत घोषित कर दिया गया था। पीएमएचएस की ओर से पुलिस-प्रशासन को सोमवार तक का अल्टीमेटम दिया गया। अध्यक्ष डॉ. मनोज वर्मा ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं है, जो बेहद निंदनीय है। पुलिस को आरोपियों की गिरफ्तारी करनी चाहिए ताकि डाक्टर और कर्मचारी अपने आप को सुरक्षित महसूस करें। उन्होंने कहा कि सोमवार को कोरोनेशन में बैठक बुलाई गई है। इसमें मंथन कर कार्यबहिष्कार पर निर्णय लिया जाएगा। मुकदमा पुलिस ने जरूर दर्ज किया है, लेकिन पुलिस अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई है।
मारपीट के विरोध में स्वास्थ्य सेवाओं के सभी संवर्ग एक साथ खड़े हैं। डाक्टरों ने जहां बैठक बुलाकर कार्य बहिष्कार पर निर्णय लेने की बात कही है। डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसो. की जिलाध्यक्ष सुधा कुकरेती, मंत्री सीएम राणा, लैब तकनीशियन एसो. के अध्यक्ष राकेश बड़वाल, फीजियोथैरेपी एसो. के अध्यक्ष आलोक त्यागी, सचिव उदयन कुमार, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष नेलशन अरोडा और जिलाध्यक्ष गुरु प्रसाद गोदियाल ने कहा कि वह मारपीट जैसी घटना कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। गिरफ्तारी न होने पर आंदोलन किया जाएगा। कोरोनेशन अस्पताल में डाक्टर और कर्मचारियों से मारपीट के मामले में चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ ने आक्रोश व्यक्त किया है। अध्यक्ष दिनेश लखेडा और उपाध्यक्ष नेल्सन कुमार अरोड़ा ने कहा कि डाक्टर एवं कर्मचारियों से मारपीट बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। एसएसपी और डीएम को चिट्ठी भेजी गई है। जल्द गिरफ्तारी नहीं हुई तो आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!