आईआईटी रुड़की ने उच्च गुणवत्ता वाले तकनीकी कार्यक्रमों की पेशकश करने के लिए ग्रेट लर्निंग के साथ किया एमओयू

Share Now

रुड़की। ई एंड आईसीटी अकादमी, आईआईटी रुड़की ने सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, क्लाउड कम्प्यूटिंग और डेटा साइंस में ऑनलाइन सर्टिफिकेट प्रोग्राम शुरू करने के लिए भारत के प्रमुख एडटेक कंपनी ग्रेट लर्निंग के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया। आईआईटी रुड़की के तत्वावधान में पेश किए जाने वाले ये कार्यक्रम दो प्रकार के हैं। पहला, फूल स्टेक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में एडवांस सर्टिफिकेट प्रोग्राम। क्लाउड कम्प्यूटिंग या पाइथन फॉर डाटा साइंस में स्पेशलाइजेशन प्रदान करने वाला यह प्रोग्राम 10 महीने का है। दूसरा, फ्रंट एंड सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, बैक एंड सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, क्लाउड कंप्यूटिंग और पाइथन फॉर डाटा साइंस में शॉर्टर ड्यूरेशन सर्टिफिकेट प्रोग्राम है।
इन पाठ्यक्रमों का उद्देश्य उद्योग और कॉर्पोरेट जगत की आवश्यकताओं के अनुसार युवाओं  के कौशल का विकास कर करियर में ग्रोथ प्रदान करना है। इन पाठ्यक्रमों को आईआईटी रुड़की, अन्य शैक्षणिक संस्थानों और उद्योग जगत के विशेषज्ञों के सहयोग से ऑनलाइन, सेल्फ-पेस्ड या हाइब्रिड मोड के माध्यम से क्यूरेट और डिलीवर किया जाएगा। शिक्षार्थियों को उद्योग के अनुसार कौशल विकास के लिए, कार्यक्रम एक मजबूत डिलीवर मॉडल पर काम करेगा जिसमें ऑनलाइन कॉन्टेंट, सप्ताह के अंत में लाइव-सेशन और प्रैक्टिकल प्रोजेक्ट की एक श्रृंखला शामिल है।
आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रो. अजीत के. चतुर्वेदी ने कहा, मैं उम्मीद करता हूं कि आईआईटी रुड़की और ग्रेट लर्निंग का यह सहयोग युवा प्रतिभाओं को उद्योगों की आवश्यकता के अनुसार कौशल विकास में मदद करेगा। दुनिया तेजी से डिजिटल अर्थव्यवस्था की ओर अग्रसर है ऐसे में भारत के कार्यबल की क्षमता बढ़ाने के लिए इन कौशलों की आवश्यकता है। ”उपयोगकर्ता के बेहतर अनुभव और दुनिया भर में अधिकतम छात्रों तक पहुंच सुनिश्चित करने के लिए, इन पाठ्यक्रमों को ग्रेट लर्निंग के प्लेटफॉर्म पर होस्ट किया जाएगा। कार्यक्रम विशेष रूप से हाल के स्नातकों के लिए डिजाइन किया गया है जो अपने प्रोफाइल को और मजबूत करना चाहते हैं। साथ ही शुरुआती चरण में काम करने वाले पेशेवरों को भी ध्यान में रखा गया है, जो फूल स्टेक डेवलपर, बैक-एंड डेवलपर, एसडीई, फ्रंट एंड डेवलपर, क्लाउड इंजीनियर, और डेटा एनालिस्ट जैसी भूमिकाओं के लिए जाने के इच्छुक हैं। कार्यक्रम के पूरा होने पर, प्रतिभागियों को ई एंड आईसीटी, आईआईटी रुड़की द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।
मोहन लखराजू, संस्थापक व सीईओ, ग्रेट लर्निंग ने कहा, “आठ साल पहले ग्रेट लर्निंग शुरू करने के पीछे का उद्देश्य सभी के लिए हाई क्वालिटी ट्रांसफॉर्मेशनल एजुकेशन को आसान बनाना था। आईआईटी रुड़की उच्च तकनीकी शिक्षा, इंजीनियरिंग और बेसिक एंड अप्लाइड रिसर्च में राष्ट्रीय महत्व के अग्रणी संस्थानों में से एक है। आईआईटी रुड़की के साथ हमारा यह सहयोग हमें अगले कुछ वर्षों में हजारों युवा प्रौद्योगिकी पेशेवरों और छात्रों को उद्योग जगत में अधिक मांग वाले डोमेन में एक विशिष्ट करियर लॉन्चपैड प्रदान करने में मदद करेगा। लिंक्डइन की इमर्जिंग जॉब्स रिपोर्ट -2020 के अनुसार, भारत में फुल-स्टेक डेवलपर्स, बैक-एंड डेवलपर्स और जावास्क्रिप्ट डेवलपर्स शीर्ष 10 उभरती भूमिकाओं में शामिल हैं। इस अवसर पर, डॉ. संजीव मन्हास, प्रोफेसर और ई एंड आईसीटी अकादमी, आईआईटी, रुड़की के मुख्य-अन्वेषक, ने कहा, “आईआईटी रुड़की और ई एंड आईसीटी अकादमी के प्रमुख लक्ष्यों में से एक यह सुनिश्चित करना है कि आईआईटी रुड़की में जो अत्याधुनिक अनुसंधान और ज्ञान का सृजन होता है उसका

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!