बैठक में अनुपस्थित रहे तीन अधिशासी अभियंताओं का एक दिन का वेतन रोकने के दिए निर्देश

Share Now

रूद्रपुर। केन्द्रीय रक्षा, पर्यटन राज्यमंत्री अजय भट्ट ने आज डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक ली। उन्होंने लोक निर्माण विभाग की समीक्षा के दौरान बैठक में अनुपस्थित अधिशासी अभियन्ता खटीमा मोहन चन्द्र पलड़िया, अधिशासी अभियन्ता रूद्रपुर विनोद कुमार डोबरियाल एवं अधिशासी अभियन्ता काशीपुर अरूण कुमार को स्पष्टीकरण जारी करते हुए एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिये। श्री भट्ट ने कहा कि आजादी के 75वें वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर पूरे देश में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत जनपद को 76 अमृत सरोवर बनाने का लक्ष्य दिया गया है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 15 अगस्त के अवसर पर क्षेत्र में जिन सरोवर का कार्य पूर्ण हो जाये उन सभी सरोवर का शुभारम्भ जनप्रतिनिधि, स्वतन्त्रता संग्राम सैनानी अथवा उनके परिजनों से कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने घट रहे भूजल स्तर पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि धरातल के घटते जलस्तर को बचाने के उद्देश्य से अमृत सरोवर बनाने का कार्य महत्वपूर्ण कदम है। उन्होने कहा कि अमृत सरोवर जल संरक्षण के साथ- ग्रामीण मिलन केन्द्र के लिए भी आवश्यक है। उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों निर्देश देते हुए कहा कि जिन तालाबों, जलाशयों में सिल्ट एकत्रित होने की समस्या आ रही है उन सभी स्थानों पर वर्षा ऋतु के पश्चात सिल्ट की समस्याओं का निस्तारण करायें।
उन्होंने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का अधिक से अधिक जनता को समय से लाभ मिले, इसके लिए योजनाओं को समयबद्ध तरीके से धरातल पर उतारना सुनिश्चित करें। उन्होंने रोड निर्माण एजेंसियों की समीक्षा के दौरान यात्राओं को सरल, सुगम व सुरक्षित बनाने के लिए निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश सम्बन्धित क्षेत्रों के अभियंताओं तथा परियोजना निदेशकों को दिये। उन्होंने खटीमा बाईपास निर्माण कार्य में तेजी लाकर शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि खटीमा बाईपास में पानी निकासी के लिए की आवश्यकतानुसार कार्यवाही शीघ्र करें।
उन्होने लोक निर्माण विभाग की समीक्षा के दौरान बैठक में अनुपस्थित अधिशासी अभियन्ता खटीमा मोहन चन्द्र पलड़िया, अधिशासी अभियन्ता रूद्रपुर विनोद कुमार डोबरियाल एवं अधिशासी अभियन्ता काशीपुर अरूण कुमार को स्पष्टीकरण जारी करते हुए एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिये। श्री भट्ट ने विकास से जुड़े सभी विभागों की विस्तार से समीक्ष की। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत प्राप्त लक्ष्य को समय से पहले ही प्राप्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान स्वास्थ्य केन्द्र जसपुर में शीघ्रता से अल्ट्रासाउण्ड सुविधा की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये। उन्होंने कोविड-19 वैक्सीनेशन, सैम्पलिंग, स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने जल जीवन मिशन कार्यों की समीक्षा के दौरान अभियंताओं को निर्देशित करते हुए कहा कि योजना के अन्तर्गत सभी को पेयजल उपलब्ध कराने हेु चरणबद्ध तरीके से कार्य करना सुनिश्चित करें। उन्होंने एनआरएलएम की समीक्षा के दौरान अधिक से अधिक महिलाओं को स्वंय सहायता समूहो से जोड़ते हुए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के निर्देश परियोजना निदेशक को दिये। उन्होने जिलाधिकारी को रूद्रपुर मे सर्किट हाऊस की स्थापना के लिए प्रस्ताव बनावकर शासन को भेजने के निर्देश दिये।
उन्होने कहा कि अधिकारी, जनप्रतिनिधि सभी लोग मिलजुल कर कार्य करें। उन्होने कहा कि जनप्रतिनिधि हो या अधिकारी हम सबको अपना व्यवहार कुशल व मिलनसार रखना चाहिए। उन्होने कहा कि हम सभी को अपने-अपने कार्यक्षेत्र की पूर्ण जानकारी होनी चाहिए। श्री भट्ट ने कहा कि जो योजनायें शासन से आती है उनके क्रियान्वयन में या विकास कार्यों मे किसी भी स्तर पर यदि कोई समस्या आती है तो अपने उच्चाधिकारियों को तत्काल अवगत करायें ताकि समस्याओं का शीघ्रता से निस्तारण किया जा सके। उन्होने कहा कि विकास कार्यों में किसी भी स्तर पर कोई अनियमित्ता न बरती जायें, यदि किसी भी स्तर पर कोई अनियमित्ता पाई जायेगी तो सम्बन्धित के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होने कहा कि कानून सभी के लिए एक समान है। इसके साथ ही उन्होंने भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की विस्तार से समीक्षा की। बैठक में जिलाधिकारी युगल किशोर पन्त ने कहा कि बैठक में दिये गये दिशा-निर्देशों को शतप्रतिशत अनुपालन कराया जायेगा। उन्होंने जनपद चल रहे कार्याे के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में अध्यक्ष विधायक शिव अरोरा, आदेश चौहान, भुवन कापड़ी, जिलाध्यक्ष विवेक सक्सेना, मेयर रामपाल सिंह, किच्छा मण्डी चेयरमैन कमलेन्द्र सेमवाल, भारत भूषण चुघ, रामप्रकाश गुप्ता, अध्यक्ष नगर पंचायत दिनेशपुर सीमा सरकार, मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, डीएफओ संदीप कुमार, उपजिलाधिकारी प्रत्यूष सिंह, सीएमओ डॉ0 सुनिता चुफाल रतूड़ी, पीडी हिमांशु जोशी, डीडीओ तारा हयांकी, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी आर्या, डीएसओ तेजबल सिंह आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!