काशीपुर – पहले ही सॉरी बोल देती तो मामला इतना नहीं बढ़ता ? – गर्भवती महिलाओ के टेक होम राशन मे मिले कीड़े

Share Now


काशीपुर

आंगनबाड़ी पोषाहार में कीड़े निकलने पर हंगामा


| समस्या के समाधान के लिए मीडिया को जानकारी देकर मौके पर बुलाना, अपने अधिकारो के प्रति जागरूक लोगो की ही पहिचान है, किन्तु कई बार लोग दूसरे पक्ष सबक सिखाने के लिए भी मीडिया का उपयोग करने लगे है | ताजा मामला काशीपुर का है जहा आंगनबाड़ी केंद्र पर अपनी गर्भवती बहुओ के लिए टेक होम का राशन लेने गयी महिला बीरबाला चौधरी का आंगनवाड़ी कार्य कत्री से विवाद हो गया | महिला ने आरोप लगाया कि गर्भवती महिलाओ को दिये जाने वाले राशन बहुत ही घटिया स्तर का है और उसमे कीड़े पड़े हुए है | मामला मीडिया तक पहुचा तो आंगनवाड़ी सुपर वायजर भी तत्काल मौके पर पाहुच गयी इस बीच उच्च अधिकारियों को भी दूरभास से जानकारी दे दी गईं| मीडिया के कैमरो को देख आंगनवाड़ी कार्यकत्रि सहम गयी सुपर वायजर ने भी गलती स्वीकार कर ली तो आँगन वाड़ी कार्यकत्रि भी माफी मगने लगी| इस बीच विडियो मे आरोप लगाने वाली महिला कहते हुए दिखाई दे रही है कि अगर पहले ही सॉरी बोल देती तो वह उसे पहले ही छोड़ देती और मामला इतना नहीं बढ़ता | तो क्या ये सब सिर्फ अपने ईगो को शांत करने के लिए किया गया – राशन मे कीड़े होने से आपको कोई फर्क नहीं पड़ता ?

काशीपुर के कुंडा थाना क्षेत्र के एक आंगनबाड़ी केंद्र पर नौनिहालों व गर्भवती महिलाओं को कीड़ा लगा पुष्टाहार यानी टेक होम राशन बांटने का मामला प्रकाश में आया है| आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा दिया गया पोषाहार जब नौनिहालों की माताओं व गर्भवती महिलाओं ने राशन घर ले जाकर खोला तो चने व सोयाबीन की बरी ओर सूजी के पैकेट में कीड़े थे तथा गुड़ भी बेहद खराब देख महिलाएं भड़क गई। जैसे ही मामले की जानकारी आंगनबाड़ी सुपरवाइजर को मिली वह मौके पर पहुंच गई वही पूरे मामले मे सीडीपीओ ने मामले की जानकारी होने पर जांचकर कार्यवाई करने की बात कही है..।

आपको बताते चलें कि प्रदेश में आंगनबाड़ी केंद्र पर पंजीकृत 5 साल की उम्र तक के बच्चों व गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार मिलता है..क्षेत्र के ग्राम लालपुर कालौनी, सुल्तानगढ़ फार्म में आंगनबाड़ी कार्यकत्री पूनम द्वारा नौनिहालों व गर्भवती महिलाओं को दलिया, सूजी, मूंग, राजमा, सोयाबीन, भुने हुए चने, मूंगफली और गुड़ दिया गया.. लालपुर कालौनी निवासी निवासी वीरबाला चौधरी अपनी गर्भवती बाहुओं व बच्चों के लिए आंगनबाड़ी केंद्र से पोषाहार लेकर जब घर पहुंची ओर जब पोषाहार खोलकर देखा तो सूजी, भुने चने, सोयाबीन की बडी के पैकेट में कीड़े थे.. इससे आहत कालौनी की कई महिलाओं ने बताया कि वह आंगनबाड़ी कार्यकर्ती के चक्कर लगातीं हैं, लेकिन पोषाहार नहीं मिलता, ओर अब जो सामान दिया है वह भी खराब है इसे खाकर तो गर्भवती महिलाएं व बच्चे बीमार हो जायेंगे वह ऐसा सामान नही लेंगी..इसी को लेकर तमाम महिलाओं व आंगनबाड़ी कार्यकर्ती पूनम के बीच बहस बढ़ गई..मामले की सूचना मिलते ही आंगनबाड़ी सुपरवाइजर श्रुती भौतियाल भी मौके पर पहुंच गई, सुपरवाइजर श्रुती भौतियाल ने हंगामा होते देख आंगनबाड़ी कार्यकर्ती को डाटते हुए स्वच्छ ओर साफ पोषाहार देने की बात कहते हुए कहा कि मामले कि रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को दी जायेगी.. इस मामले में जब क्षेत्र की सीडीपीओ यासमीन मलिक से बात की तो सीडीपीओ ने कहा की मामले में आंगनबाड़ी कार्यकर्ती व सुपरवाइजर से स्पस्टीकरण लेने के बाद कार्यवाई की जायेगी..।

वीरबाला चौधरी, शिकायतकर्ता

बाइट : श्रुति भौतियाल, सुपरवाइजर आंगनबाड़ी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!