भितरघात के आरोपों के चलते अध्यक्ष के पद से हटाये गए मदन कौसिक? – अब त्रिवेन्द्र के पीछे कतार मे ?

Share Now

देहरादून। उत्तराखंड भाजपा से मदन कौशिक की प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर विदाई होने के बाद अब उनको लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। मदन कौशिक उत्तराखंड भाजपा के वरिष्ठ नेता है और पिछले कई बार से लगातार हरिद्वार शहर सीट से विधायक चुनकर आते रहे हैं। ऐसे में मदन कौशिक की प्रदेश अध्यक्ष पद से विदाई के बाद उनके राजनीतिक भविष्य को लेकर चर्चाएं तेज हैं। हालांकि मदन कौशिक ने पार्टी हाईकमान के फैसले का स्वागत करते हुए भविष्य में पार्टी की तरफ से दी जाने वाली जिम्मेदारी पर काम करने की बात कही है।
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रहे मदन कौशिक को अब कौन सी नई जिम्मेदारी दी जाएगी, इस पर चर्चाएं तेज हो गई हैं। कुछ लोग कहते हैं कि धामी कैबिनेट में विस्तार के दौरान मदन कौशिक को एडजस्ट किया जाएगा, जबकि कुछ जानकार मानते हैं कि विधानसभा चुनाव के दौरान प्रत्याशियों की तरफ से मदन कौशिक पर लगाए गए भितरघात के आरोपों के चलते उन्हें फिलहाल कोई नई जिम्मेदारी नहीं दी जाएगी। हालांकि मदन कौशिक को क्या जिम्मेदारी मिलेगी यह तो भविष्य के गर्भ में है, लेकिन मदन कौशिक पार्टी हाईकमान के फैसले का स्वागत करते हुए नजर आए।
मदन कौशिक से जब उन्हें हटाए जाने को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पार्टी हाईकमान ने जो उचित समझा वही फैसला किया और वह पार्टी हाईकमान के फैसले का स्वागत करते हैं। मदन कौशिक ने कहा कि पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी वह उसका निर्वहन करेंगे। उन्होंने कहा कि नए प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के साथ वह संगठन को मजबूत करने का काम करेंगे। मदन कौशिक ने खुद को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने को सामान्य प्रक्रिया बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!