निर्माण कार्यों में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देते हुए समयबद्धता से पूर्ण करना सुनिश्चित करेंः मंडलायुक्त

Share Now

नैनीताल। मण्डलायुक्त सुशील कुमार ने मण्डल में चल रहे विकास कार्यों की सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये गहनता से समीक्षा की। उन्होंने समीक्षा के दौरान गॉव एवं तौक स्तर तक किये जा रहे कार्यों पर पैनी नज़र रखते हुए गहनता से समीक्षा करने के निर्देश सभी जनपदों के मुख्य विकास अधिकारियों को दिये। मण्डलायुक्त सुशील ने निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देते हुए समयबद्धता से पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी अधिशासी अभियंताओं को निर्माणधीन कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने भौतिक प्रगति वाले कार्यों का समय से भुगतान करने के निर्देश सभी अधिकारियों को दिये। उन्होंने मण्डल में जल जीवन मिशन के अन्तर्गत शीघ्रता से डीपीआर तैयार करने, डीपीआर अनुमोदित कराने के साथ ही कार्यों में तेजी लाने, विधायक निधि के अन्तर्गत धनराशि का शीघ्रता से शतप्रतिशत उपयोग करने हेतु विधायकों के साथ समन्वय स्थापित करने, सभी विभागों की मासिक प्रगति की समीक्षा करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारियों को दिये।
उन्होंने जनपद अल्मोड़ा की समीक्षा के दौरान उद्यान विभाग को समय से लाभार्थियों का चयन करने के साथ ही बीज एवं पौध भी समय से उपलब्ध कराने, रोजगार परक योजनाओं के शिविर ग्रामीण स्तर तक आयोजित करने, एनआरएलएम के अन्तर्गत लक्ष्यों को प्राप्त करने, सीएम स्वरोजगार योजना में लक्ष्य प्राप्ति हेतु जीएम डीआईसी को विशेष प्रयास करने के निर्देश दिये। उन्होंने जनपद चम्पावत की समीक्षा के दौरान उद्यान विभाग की गहनता से समीक्षा करने, मिटिगेशन के कार्य कराने, जल जीवन मिशन व पीएमजीएसवाई के कार्यों की गहनता से नियमित समीक्षा करने व कार्यों में तेजी लाने के निर्देश सीडीओ को दिये। उन्होंने पिथौरागढ़ की समीक्षा के दौरान पीएमजीएसवाई के कार्यों की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए इस वर्ष जवाबदेही तय करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिये। उन्होंने अधीक्षण अभियंता लोनिवि को जनपद के एक-एक कार्य की गहनता से समीक्षा करने के निर्देश दिये।
मण्डलायुक्त ने नैनीताल की समीक्षा के दौरान रोजगारपरक योजनाओं की प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए अधिक से अधिक युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के निर्देश दिये। उन्होंने जिला पंचायत के कार्यों में तेजी लाने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश भी मुख्य विकास अधिकारी को दिये। उन्होंने जनपद ऊधम सिंह नगर की समीक्षा के दौरान वन विभाग के कार्यों की डिविजनवार समीक्षा करने, बीस सूत्रीय कार्यक्रम में अन्तर्गत कार्यों की टास्क फोर्स के माध्यम से जॉच कराने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिये।
जनपद अल्मोड़ा द्वारा राज्य सैक्टर में प्राप्त धनराशि का 60.19 प्रतिशत, केन्द्र पोषित योजना में 90.55 प्रतिशत, जिला योजना में 71.89 प्रतिशत व्यय किया गया। इसी प्रकार बागेश्वर ने राज्य सैक्टर में प्राप्त धनराशि का 70 प्रतिशत, केन्द्र पोषित योजना में 91 प्रतिशत, जिला योजना में 76.86 प्रतिशत, नैनीताल ने राज्य सैक्टर में प्राप्त धनराशि का 61.57 प्रतिशत, केन्द्र पोषित योजना में 76.36 प्रतिशत, जिला योजना में 87.40 प्रतिशत, जनपद उधम सिंह नगर ने राज्य सैक्टर में प्राप्त धनराशि का 57.72 प्रतिशत, केन्द्र पोषित योजना में 66.19 प्रतिशत, जिला योजना में 82.90 प्रतिशत, पिथौरागढ़ ने राज्य सैक्टर में प्राप्त धनराशि का 62.11 प्रतिशत, केन्द्र पोषित योजना में 90.16 प्रतिशत, जिला योजना में 72.14 प्रतिशत व चम्पावत ने राज्य सैक्टर में प्राप्त धनराशि का 54.83 प्रतिशत, केन्द्र पोषित योजना में 90.34 प्रतिशत, जिला योजना में 72.81 प्रतिशत व्यय किया।
वीसी में मुख्य विकास अधिकारी डॉ.सन्दीप तिवारी, नवनीत पाण्डे, राजेन्द्र सिंह रावत, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या राजेन्द्र तिवारी, जीएम डीआईसी विपिन कुमार सहित अपने-अपने जनपदों मुख्य विकास अधिकारी व अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!